कोरोना के शुरुआती लक्षणों को नहीं करें नजर अंदाज, तुरंत जांच कराएं: डॉ. हिमांशु

0
  • आरटी-पीसीआर जांच का न करें इंतजार
  • तुरंत चिकित्सक से संकर्प कर इलाज शुरू कराएं
  • वाट्सअप के माध्यम से ले सकते हैं सलाह

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण का दूसरा स्ट्रेन अपना पैर पसार चुका है। लगातार लोग काफी संख्या में संक्रमित हो रहे हैं । बिहार के साथ-साथ सारण जिला भी इससे अछूता नहीं है। ऐसे में लोग भी कोरोना को लेकर लापरवाह दिख रहे है। कोरोना संक्रमण काल में आम जनता को ध्यान में रखते हुए सारण के निवासी व आईजीआईसी पटना के चिकित्सक डॉ. हिमांशु कुमार ने कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये हैं । डॉ. हिमांशु कुमार ने कहा है कोरोना के शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। लक्षण दिखते ही कोरोना की जांच कराना आवश्यक है। उन्होंने कहा प्राय: ऐसा देखा जा रहा है कि अगर किसी व्यक्ति को सर्दी-खांसी जुखाम हो रहा है तो वे आम बुखार समझकर मेडिकल स्टोर से दवा लेकर खा ले रहे हैं। यह कहीं से भी सही नहीं है। लापरवाही बरतना भारी पड़ सकता है। सभी बुखार कोविड है। सभी गले में खराश कोविड है। सभी हल्की खांसी-सर्दी कोविड है। जब तक डॉक्टर पूर्णतः जाँच के बाद संतुष्ट न हो जाये कि ये कोविड नहीं है , तब तक इन सभी लक्षण को कोविड मानकर ही इलाज करना है। कहा अगर कोरोना का लक्षण है तो इन्कार न करें। तुरंत जांच कराएं और दवा शुरू करने के लिए आरटी-पीसीआर का इंतजार न करें। डॉक्टर से संपर्क करें इलाज शुरू करें। कोविड का प्रत्येक दिन महत्वपूर्ण है। कोविड से मौत केवल इंतजार और इंकार के कारण ही हो रही है ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

वाट्सअप के माध्यम से ले सकते हैं सलाह

डॉ. हिमांशु कुमार ने बताया कोई भी मरीज जिनको बुखार, खांसी, सर्दी, स्वाद ना होना, सुगंध ना होना, बदन दर्द, सिर दर्द, सांस फूलने की शिकायत हो और कोविड की जाँच आरटी-पीसीआर संभव ना हो पा रहा हो तो घबराये नहीं। सीबीसी, सीआरपी कराएं और रिपोर्ट वाहट्सएप्प करें। रिपोर्ट के अनुसार मरीजों को आवश्यक सलाह दी जायेगी। वाट्सअप नंबर 7292809311 पर दोपहर 2 बजे से 3 बजे तक संपर्क कर सकते है।

कोरोना से घबराएं नहीं धैर्य और समझदारी से करें मुकाबला

डॉ. हिमांशु कुमार ने कहा कोरोना होने पर घबराएं नहीं। धैर्य व समझदारी से इसका मुकाबला करें। पूरी तरह सकारात्मक माहौल रखें। समस्या गंभीर होने पर लोग अपनी मर्जी से दवा लेकर सेवन करने लगते हैं। बहुत लोग डॉक्टर की सलाह के बिना खुद स्टेरायड का इस्तेमाल शुरू कर देते हैं, जिससे नुकसान होता है। संक्रमण होने पर जल्द स्वस्थ होने के लिए आराम करना बेहद जरूरी है।

लक्षण दिखने पर टेस्ट कराएं

  • सामान्य वायरल व कोरोना के लक्षण करीब-करीब एक जैसे हैं
  • गले में खराश, बदन दर्द जैसे हल्के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करें
  • जुकाम, थकान, हल्का बुखार होने पर भी जांच कराएं
  • घर पर ही रहकर भरपूर आराम करना चाहिए
  • डॉक्टर की सलाह से घर पर ही रहकर इलाज शुरू कर दें