परिवार नियोजन कार्यक्रम को सार्थक बना रहा है “नयी पहल किट ”

0
  • नई नवेली दुल्हनों को स्वास्थ्य विभाग दे रहा किट
  • आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर दे रहीं परिवार नियोजन की जानकारी
  • 2 बच्चों तक ही परिवार को सीमित रखने के लिए किया जा रहा प्रोत्साहित

गोपालगंज: परिवार नियोजन साधनों के इस्तेमाल की शुरुआत नव-दंपतियों के द्वारा ही होती है। इसलिए नव-दंपतियों के कंधे पर परिवार नियोजन को बढ़ावा देने की अधिक ज़िम्मेदारी होती है। इसे ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा नई पहल की गयी है। अब नवविवाहित जोड़ों को शादी में नाते-रिश्तेदारों से मिलने वाले पारंपरिक उपहार के अलावा स्वास्थ्य विभाग एक नया तोहफा दे रहा है। इसे नई पहल किट नाम दिया गया है। इसमें नवविवाहित जोड़े को आशा कार्यकर्ता की ओर से भेंट किया जा रहा है। इसके माध्यम से दूल्हे व दुल्हन को परिवार नियोजन के बारे में जागरुक किया जा रहा है। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के तहत यह पहल की है। इसके तहत जनसंख्या स्थिरीकरण से नवविवाहितों को जोड़ने के लिए प्रेरणा दी जा रही है। इस किट में स्त्री, पुरुष के लिए प्रसाधन की सामग्री के साथ-साथ परिवार नियोजन की सामग्री भी रखी गयी है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

आशा घर-घर जाकर नवदंपतियों को दे रही है किट

पड़ोस की आशा वर्कर्स विवाहित जोड़ों को यह शगुन दे रही है। परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिए आशा वर्कर्स घर-घर जाकर नवविवाहित जोड़े को किट का वितरण कर रही हैं । साथ ही आशा नवविवाहितों को किट में उपलब्ध परिवार नियोजन साधनों के विषय में जानकारी भी दे रही हैं ।

शगुन में मिलेगा ये समान

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार ने बताया कि इस किट में परिवार कल्याण व स्वास्थ्य मंत्री की ओर से बधाई पत्र के साथ जूट का बैग, विवाह पंजीकरण फॉर्म, एक पंपलेट, कंडोम किट, गर्भ निरोधक गोलियां, तौलिया, सेंट, कंघी, दो सेट रुमाल, जानकारी कार्ड, शीशा.आशा कार्यकर्ता व एएनएम के मोबाइल नंबर, गर्भ जांच किट एवं इमरजेंसी कंट्रासेप्टिव पिल्स शामिल हैं ।

2 बच्चों तक ही परिवार को सीमित रखने के लिए प्रोत्साहित

प्रभारी डीसीएम निखत परवीन ने बताया कि इस किट में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से एक पत्र भी होगा, जिसमें परिवार नियोजन के फायदों के बारे में लिखा होगा। इस पत्र का उद्देश्य नवविवाहित जोड़ों को जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए सचेत करने के साथ 2 बच्चों तक ही परिवार को सीमित रखने के लिए प्रोत्साहित करना है।

आशाओं को दी जा रही जानकारी

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार ने बताया नई पहल किट के संबंध में आशाओं को विस्तार से जानकारी दी गयी है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इंडिया भी सहयोग कर रहा है। आशाओं को किट में मौजूद साधनों के इस्तेमाल के विषय में बताया जा रहा है। साथ ही यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि आशाएं नवविवाहित जोड़ों को परिवार नियोजन साधनों के विषय में सटीक जानकारी उपलब्ध करा पाएं।

क्या है उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य नवविवाहित जोड़ों को पारिवारिक और वैवाहिक जीवन के दायित्वों के लिए तैयार करना है। नए जोड़ों के लिए नई पहल किट में पति और पत्नी के लिए आपातकाल में प्रयोग की जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियां, सामान्य गर्भनिरोधक गोलियां और कंडोम होंगे। इससे नवविवाहित जोड़े परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों को जान सकेंगी एवं सुविधा अनुसार इसका इस्तेमाल भी कर सकेंगी।