नीतीश कुमार, आरसीपी सिंह और ललन सिंह की बंद कमरे में मुलाकात, मीडिया से नहीं की बात!

0

पटना: बिहार की सियासत में तब सरगर्मी तेज हो गई गुरुवार की शाम जब केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह अचानक ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात करने एक अने मार्ग स्थित सीएम हाउस पहुंच गए. लगभग एक घंटे तक मुलाकात चली और मुलाकात के बीच में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी पहुंच गए. सबसे खास बात यह रही कि बैठक खत्म होने के बाद नीतीश कुमार और ललन सिंह एक गाड़ी से और आरसीपी सिंह अकेले दूसरी गाड़ी से निकले. इस बीच मीडियाकर्मियों ने आरसीपी सिंह से मामले पर प्रतिक्रिया लेने का प्रयास किया मगर आरसीपी सिंह बिना कुछ बोले ही तेजी से निकल गए. बंद कमरे में हुई इस मुलाकात के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि क्या जदयू की ओर से आरसीपी सिंह को राज्यसभा भेजे जाने का रास्ता साफ हो गया है या फिर क्या उनका पत्ता कट गया है?

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

बता दें कि आरसीपी सिंह और नीतीश कुमार की अचानक हुई इस मुलाकात के बाद सियासी सरगर्मी तेज है. नीतीश कुमार और आरसीपी सिंग की मीटिंग के बाद कई तरह के अर्थ निकाले जा रहे हैं. चर्चा यह है कि मुख्यमंत्री के साथ आरसीपी सिंह की मुलाकात में राज्यसभा की उम्मीदवारी के बारे में उन्हें दल के स्टैंड से अवगत करा दिया गया है. इधर, खबर है कि नीतीश कुमार से मिलने के पूर्व आरसीपी सिंह ने पार्टी के कुछ लोगों को कहा है कि अब दल को यह तय करना है कि पार्टी के लिए उन्होंने क्या काम किए हैं.

बता दें कि आरजेडी की ओर से राज्यसभा प्रत्याशी के नाम की घोषणा के बाद ऐसा माना जा रहा है कि जल्दी ही जदयू भी अपने प्रत्याशी के नाम की घोषणा कर देगा. यहां यह भी बता दें कि कुछ दिन पहले ही ही जदयू के विधायकों व मंत्रियों की बैठक में प्रत्याशी का नाम चयन किए जाने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अधिकृत किया गया था. इसके बाद जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने भी यही बात दोहराई थी कि प्रत्याशी का नाम पर नीतीश कुमार ही निर्णय लेंगे.

पटना. बिहार की सियासत में तब सरगर्मी तेज हो गई गुरुवार की शाम जब केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह अचानक ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात करने एक अने मार्ग स्थित सीएम हाउस पहुंच गए. लगभग एक घंटे तक मुलाकात चली और मुलाकात के बीच में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी पहुंच गए. सबसे खास बात यह रही कि बैठक खत्म होने के बाद नीतीश कुमार और ललन सिंह एक गाड़ी से और आरसीपी सिंह अकेले दूसरी गाड़ी से निकले. इस बीच मीडियाकर्मियों ने आरसीपी सिंह से मामले पर प्रतिक्रिया लेने का प्रयास किया मगर आरसीपी सिंह बिना कुछ बोले ही तेजी से निकल गए. बंद कमरे में हुई इस मुलाकात के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि क्या जदयू की ओर से आरसीपी सिंह को राज्यसभा भेजे जाने का रास्ता साफ हो गया है या फिर क्या उनका पत्ता कट गया है?

बता दें कि आरसीपी सिंह और नीतीश कुमार की अचानक हुई इस मुलाकात के बाद सियासी सरगर्मी तेज है. नीतीश कुमार और आरसीपी सिंग की मीटिंग के बाद कई तरह के अर्थ निकाले जा रहे हैं. चर्चा यह है कि मुख्यमंत्री के साथ आरसीपी सिंह की मुलाकात में राज्यसभा की उम्मीदवारी के बारे में उन्हें दल के स्टैंड से अवगत करा दिया गया है. इधर, खबर है कि नीतीश कुमार से मिलने के पूर्व आरसीपी सिंह ने पार्टी के कुछ लोगों को कहा है कि अब दल को यह तय करना है कि पार्टी के लिए उन्होंने क्या काम किए हैं.

बता दें कि आरजेडी की ओर से राज्यसभा प्रत्याशी के नाम की घोषणा के बाद ऐसा माना जा रहा है कि जल्दी ही जदयू भी अपने प्रत्याशी के नाम की घोषणा कर देगा. यहां यह भी बता दें कि कुछ दिन पहले ही ही जदयू के विधायकों व मंत्रियों की बैठक में प्रत्याशी का नाम चयन किए जाने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अधिकृत किया गया था. इसके बाद जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने भी यही बात दोहराई थी कि प्रत्याशी का नाम पर नीतीश कुमार ही निर्णय लेंगे.