सिवान में छठ घाट पर जाने से मनाही नहीं, कोविड 19 गाइडलाइन का पालन करते हुए मनाए पर्व

0

परवेज़ अख्तर/सिवान :
लोक आस्था के महापर्व छठ एवं कार्तिक पूर्णिमा की तैयारी जिला प्रशासन ने शुरू कर दी है। मंगलवार को एडीएम रमण कुमार सिन्हा ने जिला प्रशासन की ओर से की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। जिला परिषद सभागार में आयोजित बैठक में उन्होंने छठ पर्व के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा उपलब्ध कराने, भीड़ एवं यातायात नियंत्रण एवं विधि व्यवस्था संधारण के लिए संबंधित पदाधिकारियों को कई निर्देश दिए तथा तय समय पर सभी कार्य पूरा कर लेने की विशेष हिदायत दी। बैठक के दौरान कोविड 19 को ध्यान में रखते हुए अपर समाहर्ता ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, नगर कार्यपालक पदाधिकारी व अंचलाधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
adssssssss
a2

एडीएम ने आस्था के पर्व को लेकर सभी तरह के बेहतर व्यवस्था से जुड़े दिशा निर्देश दिए जाने की जानकारी देते हुए विगत के कई महीनों में कोरोना के ²ष्टिकोण से महापर्व को संपन्न कराने की बात कही। बताया कि श्रद्धालुओं को छठ घाटों पर जाकर पूजन अर्चना के लिए किसी तरह की मनाही नहीं की गई है। यह भी निर्देश दिया कि लगातार लोगों से अपील करें कि वो इस बार घाटों पर ना जाकर अपने घरों में ही छठ पर्व मनाएं। इसके बावजूद भी यदि श्रद्धालु तालाब या घाटों पर छठ मनाने आते हैं तो सख्ती से कोविड-19 गाइडलाइन का पालन कराया जाए।। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए जिले में छठ महापर्व होने वाले स्थानों पर आयोजित होने वाले छठ पूजा के दौरान मेले के आयोजन पर प्रशासनिक प्रतिबंध लगाया गया है।

वहीं छठ घाट पर 60 वर्ष से ऊपर और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे को जाने पर रोक के साथ बीमार लोगों को भी नहीं जाने की सलाह दी गई है। बैठक में एडीएम ने सभी पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए पूजा को शांतिपूर्ण ढंग से आयोजन कराने के लिए सभी स्थानों पर मजिस्ट्रेट व पुलिस बलों की तैनाती करने की बातें कही। साथ ही कोविड 19 की रोकथाम को ज्यादा से ज्यादा प्रचार प्रसार कराने व छठ घाटों की साफ सफाई कराते हुए रोशनी की व्यवस्था करने, चिकित्सा और परिवहन की व्यवस्था पर भी खास ध्यान रखने का निर्देश पदाधिकारियों को दिया। छठ व्रतियों से तालाब, नदी या पोखरे में डुबकी नहीं लगाने का भी अनुरोध किया गया है। एडीएम ने ज्यादा से ज्यादा लोगों को घरों में ही छठ व्रत करने की अपील की। साथ ही खतरनाक घाटों को चिह्नित करते हुए घाटों पर कंट्रोल रूम बनाने की बातें कही। ज्यादा गहरे घाटों पर मोटर बोट, नाव व गोताखोर की व्यवस्था करने का निर्देश दिया।

साथ ही छठ घाटों पर चिकित्सक व पारामेडिकल टीम को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिया। बताया कि छठ घाटों पर पटाखा आदि की बिक्री को प्रतिबंधित किया गया है। बैठक में डीडीसी दीपक कुमार, जिला भूअर्जन पदाधिकारी संजीव कुमार, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी विपिन कुमार राय, डीआरडीए निदेशक मृत्युंजय कुमार, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रामबाबू बैठा, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी कपिलदेव कुमार, सदर बीडीओ रमेंद्र कुमार, डीएस डॉ. एमके आलम समेत अन्य पदाधिकारी शामिल थे।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here