‘कोरोना से युवाओं को डरने की जरूरत नहीं’ ऐसे भ्रांतियों से रहें दूर

0
  • किसी भी उम्र के व्यक्ति को सकता है संक्रमण
  • एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता कोरोना वायरस का संक्रमण
  • 6 फीट की शारीरिक दूरी और मास्क का उपयोग ही हैं बचाव में कारगर

छपरा: जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण का प्रसार हो रहा है। इसको लेकर अफवाहें भी तेजी से फैल रहीं है। लोगों के मन में कई तरह की भ्रांतियां है। युवाओं में भी यह भ्रम फैल गया है कि कोरोना वायरस से युवाओं को डरने की जरूरत नहीं है। यह बुजुर्गो और बच्चों के लिए खतरनाक है। अगर युवाओं को लगता है कि उन्हें कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है तो वो गलत हैं। यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि बुजुर्गों को आम लोगों की तुलना में कोरोनावायरस संक्रमण से अधिक खतरा हो सकता है। लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि बाकी आयु वर्ग के लोग इस संक्रमण से सुरक्षित हैं। युवाओं को भी कोरोना से सावधान होने की बहुत ही ज्यादा जरुरत है। आपकी थोड़ी सी लापरवाही आपके और आपके परिवार के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads
adssss

अपने और दूसरों की सुरक्षा का रखना होगा ख्याल

छपरा शहर के दौलतगंज निवासी युवा रितेश राय कहते हैं कि कोरोना के खिलाफ इस जंग में हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि हमें अपने और दूसरों की सुरक्षा का ध्यान रखना होगा और हमें इसी वायरस के साथ अब जीना सीखना होगा। युवाओं को भी अपने साथ-साथ दूसरों का भी ख्याल रखना होगा इसके लिए सभी को सुरक्षा के लिए बनाये गये नियमों का पालन जरूरी है।

मास्क पहनने और शारीरिक दूरी के नियमों का सख्ती के साथ पालन करना जरूरी

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने कहा कि लोगों को कोरोना से बचने के लिए लगातार मास्क पहनने और शारीरिक दूरी के नियमों का सख्ती के साथ पालन करना जरूरी है। कई ऐसे भी मरीज सामने आए है जिन्हें कोरोना वायरस के एक भी लक्षण नहीं समझ आए है, लेकिन वह संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ ही जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है उन्हें सबसे ज्यादा खतरा है। इसलिए लोगों को थोड़ा संभलकर रहना चाहिए। हर एक घर का कोई न कोई युवा बाहर जाता है कभी राशन लेने तो कभी अन्य किसी काम के लिए। ज्यादा से ज्यादा युवा घर से बाहर निकल रहे हैं। एक व्यक्ति कई लोगों को संक्रमित कर सकता है। इसलिए 6 फीट की शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखें। अगर आप घर से बाहर किसी कारणवश निकल रहे हैं तो तीन लेयर वाला मास्क लगाकर निकले तथा सेनिटाइजर का समय समय पर इस्तेमाल अवश्य करें।

कोरोनावायरस संक्रमण से जुड़ी भ्रांतियों से बचें

संक्रमण के इस काल में इसको लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैल रही हैं, सही जानकारी ही इसका बचाव है। ऐसी अफवाहों के फैलने से ना सिर्फ एक ही व्यक्ति बल्कि एक बड़ी आबादी खतरे में आ सकती है। ऐसे अफवाहों को रोकने की पुरजोर कोशिश समाज के हर स्तर पर होनी चाहिए। विशेष तौर पर ग्रामीणों को सही सूचनाओं को पाने में सजगता बरतनी चाहिए। इसके लिए राज्य स्तर पर टोल फ्री नम्बर 104 जारी किया गया है, जिसपर कॉल कर कोरोना के संबंध में किसी भी प्रकार की जानकारी ली जा सकती है।

इन जगहों पर मास्क जरूर लगाएं

  • जब आप यात्रा कर रहे हों या किसी सार्वजनिक स्थल पर जा रहे हों.
  • जब आप किसी ऑफिस के कमरे में अन्य व्यक्ति के साथ बैठे हों.
  • यदि सर्दी, जुकाम हो तो बाहर निकलने से पहले मास्क जरूर लगायें

इन बातों का रखें खास ध्यान

  • छींकते या खांसने समय रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें.
  • बहुत अधिक इस्तेमाल होने वाले सतहों जैसे दरवाजे का हैंडल या ऐसी अन्य जगहों की नियमित सफाई जरूरी है.
  • खुले में या सार्वजनिक जगहों पर जहां तहां नहीं थूंके. ऐसा करना दंडनीय अपराध भी है.
  • बिना किसी उद्देश्य या औचित्य के यात्रा करने से बचें. बहुत जरूरी हो तभी यात्रा करें.