शहर से अपहृत मासूम का अब तक सुराग नहीं

0
lapata

परवेज अख्तर/सिवान : सदर अस्पताल से 13 माह के दुधमुंहे बच्चे के लापता होने के 22 दिन बाद भी उसका कोई सुराग नहीं लगा है। मासूम का सुराग नहीं मिलने से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है तथा बच्चे की बरामदगी के लिए लगातार नगर थाना का चक्कर काट रहे हैं। इसके बावजूद पुलिस द्वारा कोई ठोस पहल नहीं की जा रही है। बता दें कि जिले के जीबी नगर थाना क्षेत्र के पांडेयपुर खम्हौरी गांव निवासी नरेश यादव की पत्नी किरण देवी अपने 13 माह के मासूम बच्चा सचिन कुमार को 10 अगस्त, को अपने साथ लेकर सदर अस्पताल आई थी। इसी बीच चार पहिया वाहन पर सवार अज्ञात लोगों ने उसके मासूम बच्चा सचिन कुमार को नाटकीय ढंग से अपहरण कर ले भागे तथा महिला के साथ अपहरणकर्ताओं ने मारपीट कर चमड़ा मंडी तरफ छोड़ दिया। बाद में पीड़ित महिला ने काफी खोजबीन करने के बाद तीन दिन बाद अपने घर पांडेयपुर खम्हौरी गांव पहुंची तो अपने ससुर इंद्रदेव यादव से पूरी घटना की बात बताई। इसके बाद दर्जनों की संख्या में परिजन सदर अस्पताल पहुंचे और अपने स्तर से छानबीन शुरू किए। बाद में अपहृत मासूम का कहीं सुराग नहीं लगने से परिजनों ने नगर थाना पुलिस का सहारा लिया और ससुर इंद्रदेव यादव के आवेदन पर नगर थाना में प्राथमिकी कांड सं. 531/18 धारा 363 भादवि के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसमें अज्ञात लोगों को आरोपित किया गया है। बता दें कि घटना के इतने दिन बीत गए लेकिन आज तक पुलिस किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है। परिजन घटना के बाद से जिले के वरीय अधिकारी से लेकर थाना तक लगातार चक्कर काट रहे हैं। परिजनों का कहना है कि थाना पुलिस द्वारा सिर्फ आश्वासन मिलने से परिजनों की बेचैनी और बढ़ती जा रही है। परिजन अनहोनी की आशंका भी जता रहे हैं। घटना के बाद से अपहृत सचिन की मां किरण देवी का रोते-रोते बुरा हाल हो गया है। अपने बच्चे के वियोग में वह बेसुध हो गई है।