अब निर्बाध आपूर्ति: पीएचसी में लगा ट्रांसफार्मर, जेनरेटर का खर्च बचाने की है तैयारी

0

छपरा: सामान्य तौर पर मशरक में बिजली आपूर्ति व्यवस्था ठीक-ठाक है। बावजूद इसके मशरक के सरकारी अस्पताल अभी भी जेनरेटर के भरोसे है। बिजली बिल के साथ-साथ जेनरेटर मद में भी भुगतान करना पड़ता है। स्वास्थ्य विभाग के नये गाइडलाइन के आदेशानुसार विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था दुरुस्त करने को लेकर परिसर में ही विद्युत ट्रांसफार्मर लगाया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

ताकि जेनरेटर पर निर्भरता समाप्त हो सके। विधुत जे ई विक्रम कुमार ने बताया कि सरकार के आदेशानुसार ने ग्रामीण स्तर पर बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के लिए स्थापित पीएचसी में लो वोल्टेज की समस्या और निर्बाध रूप से विधुत सप्लाई के लिए परिसर में ही ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा है।

पर्याप्त बिजली मिलने के बाद भी कभी-कभी लाइन कट जाने पर या किसी और कारणों से बिजली आपूर्ति बाधित हो जाती है। ऐसी स्थिति में जेनरेटर का उपयोग करना पड़ता है। जेनरेटर पर खर्च बचाने के लिए अस्पताल को अपना ट्रांसफार्मर उपलब्ध हो गया। जिससे विद्युत आपूर्ति की निर्बाध व्यवस्था होगी। ताकि जेनरेटर चलाने की आवश्यकता नहीं पड़े।