डीएम व पोते अब्दुल्लाह फारूकी के साथ पदाधिकारियों ने की चादरपोशी

0

कोरोना काल के कारण संक्षेप में मना जयंती

परवेज अख्तर/सीवान:
जिले के हुसैनगंज प्रखंड स्थित फरीदपुर रमना गांव स्थित आशियाना पर मंगलवार को मौलाना मजहरुल हक साहब की 154 वीं जयंती धूमधाम से मनायी गयी. तकरीबन पौने ग्यारह बजे डीएम अमित कुमार पांडे व मौलाना साहेब के पोते अब्दुल्लाह फारूकी समेत अन्य पदाधिकारियों यथा एसडीओ राम बाबू बैठा, जिला शिक्षा पदाधिकारी मोती उर रहमान, अपर समाहर्ता रमन कुमार सिन्हा, अपर समाहर्ता सह जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी विपिन राय, डीआरडीए निदेशक मृत्युंजय कुमार व अन्य उपस्थित गणमान्य लोगों ने संयुक्त रूप से मौलाना साहब के मजार पर चादरपोशी की. तत्पश्चात मजार पर फूल बरसाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई. उसके बाद मौलाना मजहरुल हक साहब के दोनों बेटों हसन व हुसैन के मजार पर भी चादरपोशी की गई. इसके बाद डीएम सहित सभी पदाधिकारियों ने मंच पर रखे मौलाना मजहरुल हक साहब के तैलचित्र पर माल्यार्पण किया. इस दौरान प्रखंड प्रमुख राजाराम साह सहित अन्य लोगों द्वारा पदाधिकारियों को अंगवस्त्र व बूके देकर सम्मानित किया गया. फरीदपुर मध्य विद्यालय के छात्राओं द्वारा स्वागत गान से आगत अतिथियों का स्वागत किया गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

तत्पश्चात परंपरा नुसार क़ुरान की तिलावत के लिए हाफ़िज़ नईम साहब द्वारा किरत की गई. वहीं डीएम सहित अन्य पदाधियों ने मौलाना साहेब की जयंती के मौके पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉल यथा आंगनबाड़ी  सेविकाओं द्वारा केंद्र पर दी जानेवाली गतिविधियों, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण योजना, कृषि विभाग, नि:शुल्क हेल्थ जांच शिविर के साथ साथ अपग्रेड हाई स्कूल बड़रम के छात्रा आफरीन अंजूम व आयूश कुमार द्वारा हार्ट व पर्यावरण संरक्षण तथा गया दास कबीर उच्च विद्यालय रसीद चक के छात्र अमन कुमार द्वारा बनाये गये बच्चियों की सुरक्षा यंत्र व लेवर अंब्रेला यंत्र देखकर डीए ने सराहना की व छात्रों से नाम पूछे. कोरोना काल को देखते हुए कार्यक्रम को संक्षेप में ही खत्म कर दिया गया.नतिजतन मंच से मौलाना मजहरुल साहब के सराहनीय कार्यों की चर्चा तक नहीं की. साथ ही किसी नेता या पदाधिकारी द्वारा उनकी जीवनी पर प्रकाश डालते हुए दो शब्द भी नही बोल सके. जिलाधिकारी के जाते ही कुछ ही मिनटों में स्टेज समेत पंडाल भी खाली हो गया. तय समय के पूर्व ही कार्यक्रम की समाप्ति हो गई. कार्यक्रम के दौरान एसडीपीओ जितेंद्र पांडे, आईसीडीएस डीपीओ, प्रतिभा कुमारी, परपोते शादाब फारूकी, खादिम ईद मोहम्मद समेत स्थानीय व विभिन्न पंचायतों से अन्य जनप्रतिनिधियों व स्थानीय प्रशासन भी उपस्थित रहे.

जयंती पर आशियाना सज धजकर था तैयार

हर साल की तरह इस बार भी मौलाना मजहरुल हक साहेब की जयंती के मौके पर उनका आशियाना सज धजकर तैयार हो चुका था. मजार से लेकर उनके आशियाना तक मनोरम दृश्य देखते बन रहा था. 22 दिसंबर की सुबह से ही आशियाना परिसर में स्थानीय नेताओं, जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों का आगमन शुरू हो चुका था. चादरपोशी, माल्यार्पण एवं मंचन के लिए सजावट का सारा इंतजाम भी मुकम्मल हो चुका था.

मौलाना मजहरूल हक की जयंती के अवसर पर जिला कांग्रेस सीवान की ओर जिलाध्यक्ष डॉ विधु शेखर पांडे ने फरीदपुर में उनकी मजार पर कांग्रेसजनों नें चादरपोशी की. उसके बाद जिला कांग्रेस कार्यालय पर उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण कर उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया. इस अवसर पर जिलाध्यक्ष डा.पाण्डेय ने उन्हें स्वतंत्रता सेनानी, बिहार होमरूल, नारी सशक्तिकरण और चंपारण आंदोलन का वीर सिपाही बताया जो देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले थे. उन्हें कविन्द्र रवीन्द्र नाथ टैगोर ने मौलाना की उपाधि दी थी. कांग्रेस जनों ने सरकार से फरीदपुर को पर्यटन स्थल बनाने की मांग की. इस अवसर पर शिवधारी दूबे, मनीर आलम, आफताब आलम, मथुरा पंडित, ओमप्रकाश मिश्र, पं. अवधेश मिश्रा, केशव कुमार, गौरी शंकर तिवारी, जावेद अशरफ खान, शैयद गुलाम हसन मेंहदी, कौशर इमाम रिजवी, मनीष दीक्षित, जयप्रकाश दूबे, शिव राज प्रताप सिंह का भी नाम जोड़ देंगे.