मुजफ्फरपुर में कहर बरपा रही बूढ़ी गंडक, हाईवे बंद, सड़क पर 4 फीट पानी

0

मुजफ्फरपुर: बिहार में बाढ़ का कहर गहराता जा रहा है. मुजफ़्फ़रपुर के मीनापुर प्रखंड के कई गांवों में बाढ़ का पानी घरों में घुस गया है, जिससे लोगों का जीना मुहाल है. बाढ़ के कारण मुजफ्फरपुर-शिवहर स्टेट हाईवे पर बसों का आवागमन ठप हो गया है. क्योंकि मीनापुर के मिल्की गांव में स्टेट हाईवे पर बने डायवर्सन पर 4 फीट पानी है. सड़कों पर बाढ़ का पानी आने से वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है. दो जिलों को जोड़ने वाला यह वैकल्पिक मार्ग है, लेकिन बाढ़ की वजह से इस रास्ते से होकर छोटी गाड़ियो ंके लिए गुजरना भी मुश्किल है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इधर, मीनापुर प्रखंड के सभी 35 पंचायतों में बूढ़ी गंडक नदी का पानी घरों तक में घुस गया है. इसके कारण बारा भारती गांव पूरी तरह बाढ़ की चपेट में आ गया है. गांव के सभी 450 परिवारों के लोगों को पानी से बचने के लिए बूढ़ी गंडक नदी के बांध पर शरण लेना पड़ा है. इन लोगों का हाल जानने के लिए राजद विधायक मुन्ना यादव बारा भारती गांव में पहुंचे तो उन्हें भी पानी में उतरना पड़ा. बाढ़ के पानी में लोगों से घिरे विधायक मुन्ना यादव ने सरकार पर बदइंतजामी के लिए जमकर हमला बोला.

विधायक मुन्ना यादव ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रखंड के दो गांवों के लगभग 2000 लोग बाढ़ से त्रस्त हैं. पिछले साल मैंने अपने निजी कोष से 2 नावों का प्रबंध किया था, लेकिन इस साल प्रशासन ने कोई इंतजाम नहीं किया है. बाढ़ के कारण गांव में आना मुश्किल है. घुटनेभर से ज्यादा पानी में उतरे विधायक ने कहा कि पिछले करीब 2 दशकों से इस गांव के लोग बाढ़ की समस्या से जूझ रहे हैं, लेकिन सरकार इनकी सुध नहीं ले रही है.

इधर, मिल्की गांव में सड़कों पर बाढ़ का पानी आने की परेशानी के बीच लोगों को नाव से नदी पार कराने के लिए मनमाने पैसे वसूले जाने की भी खबर है. स्टेट हाईवे के डायवर्सन पर 4 फीट पानी को पार करने के लिए बाइक सवारों से नाव वाले मनमाने पैसे वसूल रहे हैं. लगभग 50 फीट लंबे डायवर्सन को पार करने के लिए बाइक सवारों से 50 रुपए लिए जा रहे हैं.