पुरानी दुश्मनी को ले किशोर की निर्मम हत्या, शव को पोखरे में फेंका

0

एकलौता पुत्र था डोमा

परिजनों का रो -रो कर बुरा हाल

परवेज अख्तर, सीवान:- जिले के गोरेयाकोठी थाने के दुधरा गांव में उस समय कोहराम मच गया की जब आपसी विवाद को लेकर एक सात वर्षीय किशोर की निर्मम हत्या कर अपराधियों ने कर उसके शव को गांव के पोखरे में फेंक दिया।पोखरे में किशोर की शव मिलने की सुचना पर इलाके में सनसनी फैल गयी ।तथा तरह-तरह की अटकलों का बाजार गर्म हो गया। लोग जितनी मुँह उतनी बातें शुरू कर दिए।मृत किशोर की पहचान पवन कुमार उर्फ डोमा बिन के रूप में हुई है, जो इसी गांव के कृष्णा प्रसाद बिन का इकलौता पुत्र था. घटना के संबंध में मृतक पिता कृष्णा ने बताया कि मेरा पुत्र शुक्रवार की रात करीब 8 बजे से अचानक घर से गायब हो गया था.हमलोग बहुत खोजबीन किये परन्तु उसका कहीं सुराग नही लगा इसी बीच शनिवार की दोपहर में जब ग्रामीण उक्त पोखरे में मछली मारने के लिए लोग गए तो लोगों ने पोखरे में एक किशोर के शव को देख भौचक रह गए और इसकी सुचना मछली मारने गए लोगो ने गांव में दी तो सुचना पाकर पोखरे के समीप सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।बाद में उपस्थित लोगों ने शव की पहचान लापता डोमा के रूप में की ।लोगों ने इसकी सुचना उसके परिजनों को दी।शव को देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा था की अपराधियों ने किशोर की गला या किसी वजनदार वस्तु से उसके शरीर को दबा कर उसे निर्दयी ढंग से मार डाला है।उधर मौत के कारणों का तब खुलासा सम्भव है की जब पुलिस को पोस्मार्टम रिपोर्ट हाथ लगेंगे। उधर सुचना पर पहुँची पुलिस ने शव को पंचनामा के आधार पर बरामद कर शनिवार की देर रात पोस्मार्टम हेतु सीवान सदर अस्पताल भेज दिया।सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने रविवार की सुबह पोस्मार्टम के बाद शव को उसके परिजनों को सौंप दिया। मृतक के पिता कृष्णा ने पुलिस को अपने दिए फर्द बयान में बताया है की मेरे ही गांव के सुकन प्रसाद नामक ब्यक्ति से कुछ महीने पहले छोटे-छोटे बच्चों के विवाद को लेकर मारपीट हुआ था। इसमें सुकन प्रसाद तथा उसके घर वालों ने मेरी पिटाई करते हुये पुत्र की हत्या करने की धमकी उस समय दी थी। उसने आरोप लगाते हुए कहा कि सुकन प्रसाद ने पुरानी रंजिश को लेकर मेरे इकलौते पुत्र की हत्या कर सबको पोखरे में फेंक दिया है। पुलिस ने इस मामले में एक मामला दर्ज कर सुकन प्रसाद तथा उसकी पत्नी व दो पुत्रों को आरोपित किया है।

रोते -बिलखते परिजन
रोते -बिलखते परिजन