पुलिस अभिरक्षा में शराबी की मौत मामले में ओपी प्रभारी निलंबित, परिजनों ने पुलिस पर लगाया पीट-पीट कर हत्या करने का आरोप

0

पटना: पुलिस हिरासत में बुजुर्ग की मौत के मामले में सीतामढ़ी SP ने मेहसौल ओपी प्रभारी मोसिर अली को निलंबित कर दिया है। प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है। सोमवार देर शाम बसबरिया कृष्णा नगर वार्ड 3 निवासी 65 वर्षीय विश्वनाथ चौधरी को शराब बेचने व पीने के आरोप में मेहसौल ओपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आरोप है कि पुलिस ने उसे थाने की हाजत में बंद कर पीट-पीटकर मार डाला।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

विश्वनाथ के पुत्र अनिल चौधरी ने बताया कि पिता को नशे की लत लगी थी। वह जब तक शराब नहीं पीते थे, उनका शरीर कांपता रहता था। उन्होंने ताड़ी पी थी और एक छोटी बोतल शराब का लिए हुए थे। इसके कारण पुलिस ने पकड़ लिया औ शराब पीने के जुर्म में मौत की नींद सुला दिया। मृतक की साली रेखा कुमारी ने बताया कि जब मैं जीजा से मिलने गई तो पुलिस ने मिलने नहीं दिया। थानाध्यक्ष ने बोला कि एक डेढ़ घंटे रुको उसके बाद मुलाकात होगी। रेखा देवी थाने के बाहर ठहरी थी। उनका मानना है कि मृतक की पुलिस पिटाई कर रही थी तो उसके चिल्लाने की आवाज बाहर तक आ रही थी।

बताया जाता है कि पुलिस की पिटाई से बेहोश होने के बाद बुजुर्ग को पुलिस ने सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इस मामले में SP ने मेडिकल टीम का गठन किया है। SP ने बताया कि मेडिकल टीम की जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद संबंधित पुलिस अधिकारी और दोषी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। तत्काल प्रभाव से ओपी प्रभारी को निलंबित कर दिया गया।

मेहसौल ओपी प्रभारी मोसिर अली ने बताया कि मृतक के पास से 180 ML की 18 बोतल शराब बरामद की गई थी। इसके आरोप में उसे गिरफ्तार कर थाने लाया गया था। वह हाजत में बेहोश हो गया। इसके बाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

सीतामढ़ी शहर के मेहसौल चौक पर मंगलवार की सुबह से ही आक्रोशित लोगों ने टायर जलाकर सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। सोमवार की देर रात जिले के मेहसौल ओपी पुलिस के हिरासत में एक युवक की मौत हो गई थी। आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने सड़क पर उतरकर काफी हंगामा किया। जगह-जगह टायर जलाकर करीब 3 घंटों से अधिक प्रदर्शन किया। सड़क जाम की सूचना पर सदर SDM राकेश कुमार और DSP रमाकांत उपाध्याय मौके पर काफी संख्या में पुलिस बल के साथ पहुंचे। मृतक के घर पर छठ की तैयारी चल रही थी। अभी अर्थी सजाई जा रही है। मृतक की पत्नी 30 वर्षों से छठ करती हैं। उनका कहना है कि इस पावन त्योहार में ही मेरे सुहाग को छीन लिया।