ऑपरेशन क्लीन: एक्शन में बिहार पुलिस, 12 घंटे की ताबड़तोड़ छापेमारी में पकड़े शराब के सात अड्डे, 13 धंधेबाज गिरफ्तार

0

पटना: मुजफ्फरपुर के सरैया में जहरीली शराब से आठ मौत के बाद बेतिया, गोपालगंज और समस्तीपुर में मौतों का सिलसिला बढ़ने पर शनिवार को मुजफ्फरपुर पुलिस ने शराब के खिलाफ ऑपरेशन क्लीन चलाया। जिले के सभी थानेदारों ने अपने-अपने इलाके में सुबह 5 बजे से ही शराब के अड्डों पर छापेमारी शुरू की।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

शहर और देहात तक बड़े पैमाने पर नकली शराब बनाने का खेल सामने आया। 12 घंटे की छापेमारी में 7 नकली शराब बनाने के अड्डे पकड़े गए। शाम पांच बजे तक 150 लीटर देसी/नकली शराब जब्त की गई। 13 धंधेबाज भी पकड़े गए। एसएसपी ने बताया कि शराब के खिलाफ यह अभियान अगले तीन दिनों तक ताबड़तोड़ चलता रहेगा।

शहरी इलाके में सदर थाने की पुलिस ने सुस्ता माधोपुर में और नगर थाने की पुलिस ने पुरानी गुदरी में नकली शराब के अड्डे पर छापेमारी कर 70 लीटर स्प्रीट से निर्मित शराब जब्त की। सदर व नगर थाने की पुलिस ने 7 धंधेबाजों को पकड़ा। कांटी के शेरना गांव में धंधेबाज मो. मोकीम के ठिकाने पर नकली शराब बनाने का अड्डा ध्वस्त किया। यहां से 40 लीटर नकली शराब मिली।

शराब बनाने के उपकरण व बर्तन भी मिले। सकरा के बरियारपुर में छापेमारी कर देसी शराब बिक्री के दो अड्डों को ध्वस्त किया गया। सकरा के पैगंबरपुर गांव से 7 लीटर नकली शराब मिली और शराब बनाने वाले तरल को नष्ट किया गया। सकरा के रुपनपट्टी हाट चौक से चार बोतल विदेशी शराब के साथ स्थानीय सत्यजीत पासवान को गिरफ्तार किया गया।

उत्पाद टीम ने देदौल बैगन चौक के पास देसी शराब बनाने के अड्डे पर छापेमारी की। यहां से 30 लीटर देसी शराब जब्त की और 500 लीटर जावा तरल व 500 ग्राम यीस्ट नष्ट किया। पानापुर करियात के भेड़ियाही गांव में छापेमारी कर पुलिस ने शराब के धंधेबाज मनोरंजन कुमार और जीतेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया।

सरैया कांड के मद्देनजर शराब के खिलाफ अभियान चलाने के लिए एसएसपी ने शुक्रवार की रात थानेदारों के साथ बैठक की थी। इसमें उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया था कि अब शराब को लेकर कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऑपरेशन क्लीन चलाकर शराब के सभी ठिकानों को ध्वस्त करें। इसके बाद पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की।

माफियाओं के जमानतदार भी आएंगे लपेटे में

शराब सिंडिकेट चलाने वाले माफिया और उससे जुड़े धंधेबाजों की जमानत पुलिस रद्द कराएगी। आईजी गणेश कुमार ने शराब के एक से अधिक कांडों के आरोपी धंधेबाजों पर सख्ती का निर्देश जारी किया है। इसके तहत सभी थानेदारों से शराब के एक से अधिक कांडों के आरोपियों की सूची मांगी गई है।

इसमें मिठनपुरा थाने की पुलिस ने बबुआ डॉन के चार शागिर्दों की सूची दी है। हथौड़ी पुलिस ने सुधीर मंडल गिरोह के दो और कटरा पुलिस ने धनौर गांव के दो धंधेबाजों की सूची जिला में भेजी है। इन सभी की जमानत रद्द कराने के लिए विशेष लोक अभियोजक को प्रस्ताव भेजने की तैयारी है।

सकरा, अहियापुर, पारू, मनियारी, कांटी, मोतीपुर, सरैया और साहेबगंज थानेदारों को शीघ्र ही प्रस्ताव देने के लिए कहा गया है। ये इलाका शराब बंदी से पूर्व से भी नकली शराब को लेकर काफी चर्चित रहा है। आईजी ने बार-बार शराब कांडों में आरोपित होने वाले धंधेबाजों के जमानतदारों का नाम-पते का भी सत्यापन करने का निर्देश दिया है। एसएसपी ने बताया कि जेल से छूटने के बाद फिर से धंधा शुरू करने वाले धंधेबाजों के जमानतदारों को भी उनका सहयोगी मानकर कार्रवाई की जाएगी।