आर्केस्ट्रा की आड़ में फल-फूल रहा देह व्यापार का धंधा

0

जी. बी. नगर तरवारा में ग्रामीण कर रहे प्रदर्शन

स्थानीय थाना ने की अनदेखी तो एसपी को दिया ग्रामीणों ने आवेदन

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के कई प्रखंडों में जिस रफ्तार से अवैध आर्केस्ट्रा का संचालन हो रहा है उसके खिलाफ अब वहां के ग्रामीणों ने आवाज उठाना शुरू कर दिया है। बावजूद इसके प्रशासन ने मौन धारण किया है। प्रशासन की इसी अनदेखी का नतीजा है कि आर्केस्ट्रा की आड़ में यहां देह व्यापार का धंधा जोरों पर फल फूल रहा है। इस कारण यहां शरारती तत्वों के साथ अपराधियों का जमावड़ा भी होता है जहां जिस्मफरोशी के साथ साथ शराब का धंधा जोरों पर चल रहा है। ताजा मामला जीबी नगर थाना क्षेत्र कर है। जहां इन दिनों आर्केस्ट्रा की आड़ में देह व्यापार का धंधा अपनी चरम पर है। क्षेत्र के तरवारा, नवका बाजार, सलारगंज, दीनदयालपुर, चाड़ी, चांदपुर बाजार समेत थाना क्षेत्र के दर्जनों से अधिक बाज़ारों पर अवैध रूप से खुलेआम आर्केस्ट्रा का संचालन संचालकों द्वारा किया जा रहा है। आर्केस्ट्रा का संचालन करने वाले अधिकांश जिले एवं अन्य जिलों के कुख्यात अपराधी भी शामिल हैं। यहां गौर करने की बात तो यह है कि स्थानीय पुलिस ने आर्केस्ट्रा संचालन पर लगाम लगाना तो दूर आज तक किसी से उनके लाइसेंस के बारे में भी जानकारी नहीं ली है पुलिस ने आज तक आर्केस्ट्रा में रहने वालों के वोटर आइडी की भी जांच नहीं की है जिससे यह पता चल सके कि आखिर आर्केस्ट्रा में काम करने वाले सभी डांसर और कर्मी कहां के रहने वाले हैँ। बाजार वासियों द्वारा थाना इलाका में हो रहे इस कारनामे पर रोक लगाने की कोशिश की गई, परंतु पुलिस की मदद नहीं मिलने एवं अपराधी किस्म के संचालकों के भय से बाजार के सभ्य एवं संभ्रांत परिवार के लोगों ने चुप्पी साध ली। लेकिन इसी को लेकर तरवारा गिरिटोला व साईंटोला के सैकड़ों ग्रामीणों ने जदयू नेता अब्दुल करीम रिजवी के नेतृत्व में एसपी को आवेदन देकर इस ओर कार्रवाई की मांग की है।उधर यह धंधा भगवानपुर में भी फलफूल रहा था जिस पर स्थानीय थानाध्यक्ष राकेश मोहन ने कार्रवाई की और दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। जबकि अभी भी कई आरोपित कांड संख्या 93/18 में फरार चल रहे हैं।