निवर्तमान मुखिया बाउंसर और प्राइवेट बॉडीगार्ड लेकर चलते हैं, विरोधियों पर चलाते हैं गोली, पुलिस ने सभी को भेजा जेल

0

पटना: बिहार के भोजपुर में निवर्तमान मुखिया जी बाउंसर लेकर चलते हैं…वो भी एक..दो…नहीं बल्कि पांच-पांच बाउंसर लेकर चलते हैं। वो बाउंसर निवर्तमान मुखिया जी के लिये विरोधियों पर फायरिंग भी करते हैं। वैसे फायरिंग के बाद पुलिस ने निवर्तमान मुखिया के साथ सभी बाउंसर को गिरफ्तार कर लिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

भोजपुर जिले के सहार थाना क्षेत्र के नाढ़ी गांव में शुक्रवार को नोनउर पंचायत के मुखिया और उनके प्रतिद्वंदी गुट के बीच फायरिंग के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। सहार थाना ने निवर्तमान मुखिया बमभोला प्रसाद, उनके पांच बॉडीगार्ड और दूसरे पक्ष के बमबम राय, रविंद्र राय और ललन राय को नामजद किया गया है। दूसरे पक्ष के एक अज्ञात को भी आरोपित किया गया है।

फायरिंग के इस मामले में पुलिस ने मुखिया बमभोला प्रसाद और उनके बॉडीगार्डों को शनिवार को जेल भेज दिया गया। जेल जाने वाले बॉडीगार्डों में यूपी के फिरोजाबाद के नगला भदौरिया निवासी सचिन कुमार, आगरा के रामपुर निवासी राजेश कुमार सिंह, मध्य प्रदेश के मुरैना निवासी अवधेश सिंह, भोजपुर जिले के शाहपुर के सरना निवासी सर्वजीत सिंह और पटना के बख्तियारपुर गांव निवासी अभिशेख सिंह शामिल हैं। इनमें तीन बॉडीगार्ड और दो बाउंसर हैं। पांचों पटना के एक निजी सुरक्षा कंपनी के स्टाफ हैं। राजेश कुमार सिंह, सचिन कुमार और अवधेश सिंह की लाइसेंसी पिस्टल और 35 गोली भी जब्त कर ली गयी है।

इधर, एसपी विनय तिवारी ने बताया कि जब्त हथियारों का लाइसेंस रद्द कराया जायेगा। इसके लिये संबंधित जिलों को पत्र लिखा जायेगा। दूसरे पक्ष के तीनों नामजद आरोपितों की धरपकड़ के लिये छापेमारी की जा रही है। बता दें कि नाढ़ी गांव में मुखिया और उनके प्रतिद्वंदी गुट के बीच जमकर फायरिंग हुई थी। हालांकि किसी को गोली नहीं लगी थी। सूचना मिलने पर पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह और सहार थाना की पुलिस मौके पर पहुंच छानबीन की थी। उस दौरान मुखिया और उनके बॉडीगार्डों को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया गया था।

पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में मुखिया बमभोला प्रसाद पर चुनाव आचार संहिता और जिला प्रशासन की आदेश का अवहेलना करने का आरोप लगाया गया है। मतदाताओं में भय पैदा करने के लिये हथियार और बॉडीगार्ड के साथ घूमने का भी आरोप है। दूसरे पक्ष के तीनों आरोपितों पर भी यह आरोप है। पुलिस का कहना है कि फायरिंग की घटना से आम जनता में भय और दहशत का माहौल है। हालांकि अब स्थिति समान्य है।