पचरुखी: सात दशक बाद भी पचरुखी का गोपालपुर पंचायत विकास से कोसों दूर

0
nal jal

पंचायत में विद्यालय तक जाने के लिये रास्ता तक नहीं

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के पचरुखी प्रखंड का गोपालपुर पंचायत आजादी के सात दशक बाद भी विकास से कोसों दूर है. पंचायत में विकास योजनाओं का क्रियान्वयन नहीं के बराबर है. प्रखंड का यह पहला पंचायत है, जहां बिगत पांच साल में सात बार पंचायत सचिव बदले गये हैं. योजनाओं की बातें करे तो पचायत में 14 वार्ड है. परंतु जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण आज लोगों में आक्रोश दिखता है. वार्ड-12 की बात करें तो इसके वार्ड सदस्य ही उप मुखिया हैं. बावजूद आजतक नल-जल योजना का कार्य पूरा नहीं हो पाया है. वार्ड सदस्य उपेंद्र सिहं मुखिया शैलेंद्र पांडे पर आरोप लगाते हुए कहते है कि नल जल की राशि खर्च नहीं करने से कार्य अधुरा है. वही वार्ड-10 व 11 की बातें करें तो वहां पानी का टंकी तो खड़ा है, पर अबतक किसी ग्रामीण को पानी नसीब नहीं हुआ है. वहीं पेंगवारा गांव के वार्ड पांच महादलित बस्ती में आज तक नल का पानी नहीं टपक सका है. बस्ती में लगभग 25 घर के ग्रामीण दुषित पानी पीने को मजबूर हैं. वहीं इसी पेंगवारा गांव के वार्ड संख्या छह में एक प्राथमिक विद्यालय है. जहां नौनिहोलों को विद्यालय जाने के लिये कोई रास्ता नहीं है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

छात्रों को पगडंडियों का सहारा लेना पड़ता है. यहां मतदान भी होता है. पागुरकोठी गांव के वार्ड संख्या- 1, 2 व 3 की बात करें तो पांच साल में नल का जल नहीं टपका है. जबकि नलजल के पूरी राशि की निकासी कर ली गयी है. मोहम्मदपुर, शाहतकिया गांव के वार्ड सात, आठ व नौ भी इससे अछूता नहीं है. ग्रामीण उमा कुमार, प्रभात कुमार, पंकज कुमार, सनी कुमार, भीम सिंह, रवि सिंह, तुफानी साह, सुरज कुमार, राहुल कुमार, प्रवीण कुमार इत्यादि  ग्रामीणों ने बताया कि अगर पूरे प्रखंड क्षेत्र के पंचायतों की स्थिति देखा जाय, तो सबसे खराब हालात गोपालपुर पंचायत का है. पूरे पंचायतों में विकास का काम ढंग से नहीं हुआ है. जो हुआ भी उसमें घटिया समाग्री का प्रयोग किया गया. वहीं सामाजिक कार्यकर्ता व पूर्व मुखिया राजेश्वर सिंह का कहना है कि अगर पांच सालों का विकास कार्य देखा जाये तो पंचायत सबसे पीछे है. उन्होंने मामले में बीडीओ का ध्यान आकर्षित किया है.

क्या कहते हैं मुखिया

शैलेन्द्र कुमार पांडेय ने बताया कि करीब करीब सभी वार्डो में काम पूरा हो चुका है और जो कमी है एक सप्ताह में।पूरा कर लिया जाएगा सभी वार्ड क्रियानबाय समिति को बोल दिया गया कि जल्द से जल्द काम पूरा की जाय

क्या कहते हैं बीडीओ

रवि रंजन ने बताया कि आप लोगो के माध्यम से हमे जानकारी मिली मामले की जांच कर जो भी दोषी होगा उस पर करवाई की जाएगी