होम आइसोलेशन में आवासित मरीजों को मिलेगी बेहतर चिकित्सा सुविधा

1
  • आटोमेटेड कॉल के माध्यम से मरीजों के स्वास्थ्य की ली जाएगी जानकारी
  • टेलीमेड कोविड हेल्पलाइन के लिए स्टेपवन के द्वारा किया गया है कॉल सेंटर स्थापित

छपरा: कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए युद्ध स्तर पर कार्रवाई की जा रही है। इस क्रम में होम आइसोलेशन में आवासित मरीजों को दी जा रही स्वास्थ सुविधाओं एवं उनके स्वास्थ्य की देखभाल का लगातार अनुश्रवण किया जा रहा है। इसे अत्यधिक प्रभावकारी बनाने के लिए प्रोजेक्ट स्टेप वन के सहयोग से टेलीमेड कोविड हेल्पलाइन का क्रियान्वयन किया गया है। टेलीमेड कोविड हेल्पलाइन के लिए स्टेपवन के द्वारा कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। कॉल सेंटर द्वारा होम आइसोलेशन में आवासित मरीजों को प्रतिदिन इंटरैक्टिव वॉइस रिस्पांस सिस्टम के माध्यम से कॉल किया जा रहा है। हेल्पलाइन के सुगम संचालन के लिए आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने जिले के डीएम औऱ सिविल सर्जन को पत्र लिखकर निर्देश जारी किया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

होम आइसोलेशन में आवासित मरीजों की सूची प्रतिदिन प्रोजेक्ट स्टेपवन को देने का निर्देश

जारी पत्र में होम आइसोलेशन में आवासित मरीजो की सूची राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार के डाटा पदाधिकारी द्वारा प्रतिदिन प्रोटेक्ट स्टेपवन को 8:30 बजे रात तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। स्टेप वन उक्त डाटा के आधार पर आइभीआरएस आधारित ऑटोमेटेड कॉल आउट के माध्यम से होम आइसोलेशन में आवासीय मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी प्राप्त करेगा। आईवीआरएस से प्राप्त जानकारी के आधार पर चिन्हित इमरजेंसी के स्कोर स्टेप वन के चिकित्सकों द्वारा संबंधित मरीज से वार्ता कर संपुष्ट की जाएगी तथा इमरजेंसी के श्रेणी में चिन्हित करने की वजह भी स्पष्ट रूप से अंकित की जाएगी।

गंभीर रूप से बीमार मरीजों की तैयार की जाएगी सूची

स्टेप वन के द्वारा उक्त प्रक्रिया के आधार पर तैयार की गई गंभीर रूप से बीमार मरीजों की सूची दिन में तीन बार 12:00 से 2:00 बजे एवं 4:00 बजे राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार के डाटा पदाधिकारी के ईमेल पर उपलब्ध करायी जाएगी। साथ ही स्टेप वन प्रतिदिन सूची का प्रतिवेदन संध्या 7:00 बजे राज्य स्वास्थ्य समिति को मेल पर उपलब्ध कराएगी।

चिकित्सकीय नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध करायी जाएगी सूची

पत्र के अनुसार स्टेप वन से प्राप्त जिलावार सूची जिले के चिकित्सा नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध करायी जाएगी ताकि सूची में अंकित मरीजों से चिकित्सकीय नियंत्रण कक्ष में प्रतिनियुक्त चिकित्सक वार्ता कर आवश्यकता अनुसार टेलीमेडिकल कंसलटेंसी के माध्यम से उपचार कर सकें अथवा आवश्यकतानुसार उपचार के लिए संस्थागत आइसोलेशन में भर्ती कराने के लिए निर्देशों पर समुचित कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके। डाटा पदाधिकारी द्वारा उक्त सूची राज्यस्तर आइसोलेशन सेंटर के अनुश्रवण के लिए गठित पांच दलों को भी उपलब्ध करायी जाएगा। सभी अनुश्रवण दल अपने संबंध जिलों से निरंतर संपर्क स्थापित कर उपयुक्त कंडिका में निहित निदेशों का अनुसरण करेंगे।

मिलेगी एंबुलेंस की सुविधा

होम आइसोलेशन में रहने के दौरान अगर किसी मरीज की तबीयत बिगड़ती है तो उन्हें जिला चिकित्सकीय नियंत्रण कक्ष के द्वारा एंबुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसको लेकर आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है तथा इसे सुनिश्चित कराने की दिशा में कार्रवाई करने की बात कही गई है।

1 टिप्पणी

Comments are closed.