तरवारा बाजार में खरीदारी करने निकले लोगों को महाजाम से हो रही है परेशानी

0
  • दर्जनों गांव के ग्रामीण आते हैं इस बाजार में खरीदारी करने
  • पचमुहानी मार्ग होने के कारण ग्रामीण इलाके में चर्चित है यह बाजार
  • कई प्रमुख मार्गों को जोड़ने का केंद्र है तरवारा बाजार
  • रोड के किनारे लगे ठेला खोमचा वालों के चलते लग रहा है यहां महाजाम

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के पचरुखी प्रखंड के सबसे चर्चित तरवारा बाजार में इन दिनों महाजाम लगने से बाजार में खरीदारी करने निकले लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।यहां अलसुबह से लेकर देर संध्या तक सीवान-सोनहो मुख्य मार्ग पर गाड़ियों की लंबी कतारें लग जा रही है।जिसके चलते वाहन तो वाहन है पैदल तक निकलना मुश्किल हो रहा है।हालांकि स्थानीय पुलिस प्रशासन को लगातार एक पखवारे से लग रहे भीषण जाम को हटाने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।जबकि अंचल प्रशासन की निष्क्रियता से यहां महाजाम का पर्याय बन कर रह गया है।कारण यह है कि मुख्य मार्ग के दोनों तरफ अवैध रूप से ठेला – खोमचा वाले तथा फुटपाती दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें लगा कर रास्ता अवरुद्ध कर दिए हैं।मुख्य मार्ग के दोनों तरफ की सड़कों पर अतिक्रमण ही अतिक्रमण है।जिसके चलते यहां महाजाम लग रहा है।हालांकि इसकी शिकायत कई बार अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर स्थानीय लोगों ने पचरुखी अंचल प्रशासन को दी।लेकिन इसके बावजूद भी अंचल प्रशासन द्वारा कोई कारगर कदम नहीं उठाया जा सका।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

tarwara jaam

जिससे दिन पे दिन ऐसी ज्वलंत समस्या उत्पन्न हो रही है।यहां बताते चलें कि इस बाजार में सबसे ज्यादा भीड़ त्योहारी सीजन तथा लग्न के दिन में होती है।इस बाजार में क्षेत्र के काजीटोला, सतवार, सरैया,दीक्षितपुर,बाबू टोला,चांचोपाली,नौरंगा,शंकरा,शाहपुर,चौकी हसन, हरिहरपुर लालगढ़, नौतन, सोनबर्षा, मिश्रौलिया,फलपूरा,उसरी, डी.के.सारंगपुर, फखरुद्दीनपुर, पिपरा,हकमा,दीनदयालपुर,दीनापट्टी,भरतपुरा,नथनपुरा,सुरवाला, समेत दर्जनों से अधिक गांव के ग्रामीण इस बाजार में खरीदारी के लिए आते हैं। लेकिन इस बाजार में महाजाम से खरीदारी वास्ते निकले लोगों के नाकोदम हो रहे है।यहां महाजाम के चलते सर्दी के मौसम में भी लोगों के पसीने छूट रहे हैं। यहां सबसे बुरी स्थिति सीवान-सोनहो मुख्य मार्ग की है।इस मुख्य मार्ग पर देर संध्या तक बड़ी-बड़ी गाड़ियों की लंबी कतारें लग रही है।बतादें कि मुख्य मार्ग पर महाजाम के चलते यहां आए दिन छोटी बड़ी दुर्घटनाएं होती रहती है।

यहां बताते चले कि यह बाजार पांच प्रमुख मार्गों को जोड़ता है।इस बाजार के इंदिरा चौक से पांच मुख्य मार्ग कटे हुए हैं।दुकानदारों में क्रमशः रोमी सरकार,जवाहर प्रसाद सिंह,सुरेश प्रसाद कुशवाहा, जलालुद्दीन हवारी,विनय सोनी, मनोज कुमार सिंह,मुकेश कुमार तिवारी,विजय कुमार तिवारी आदि ने बताया कि यहां महाजाम का मुख्य कारण अतिक्रमण है।अगर अंचल प्रशासन द्वारा इस बाजार को अतिक्रमण मुक्त करा दिया गया तो यहां जाम से निजात आवश्यक मिलेगी। लेकिन बार-बार पत्राचार के बावजूद भी अंचल प्रशासन द्वारा इस ज्वलंत समस्या को लेकर कोई ठोस पहल नहीं किया जा रहा है।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

जी.बी नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि महाजाम के चलते बाजार के इंदिरा चौक पर अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। लेकिन बाजार को अतिक्रमण मुक्त कराना अंचल प्रशासन का काम है।अगर अंचल प्रशासन द्वारा स्थानीय थाना से मदद मांगी गई तो थाना स्तर से मदद देकर बाजार को अतिक्रमण मुक्त कराया जा सकता है।लग रहे महाजाम को मुक्त कराने को लेकर थाने के कनीय पुलिस पदाधिकारी के जिम्मे सौंप दिया गया है।