बिहार आने वाले लोग ध्यान दें, आपको चार दिन आवश्यक रूप से रहना होगा क्वारंटाइन

0

पटना: राज्य के बाहर से आने वाले लोगों को चार दिन क्वारंटीन केंद्र में रहना होगा। इसके लिए सरकार ने सभी अनुमंडलों में सुविधाओं से युक्त क्वारंटीन कैंप बनाने का निर्देश दिया है। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने गुरुवार को इसके लिए सभी डीएम को पत्र लिखकर बड़े भवनों को चिह्नित कर पूरी व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। साथ ही, कहा है कि भवन से होने चाहिए कि लोगों को शारीरिक दूरी बनाकर रखा जा सके।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

प्रधान सचिव ने कहा है कि बाहर से आने वाले लोग बड़ी संख्या में संक्रमित पाये जा रहे हैं। ऐसे लोगों को अलग रखने की व्यवस्था की गई है। जो लोग संक्रमित नहीं है उन्हें भी होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जा रही है। जो लोग संक्रमित नहीं लेकिन पूरी जांच के बाद ही घर जाना चाहते हैं उन्हें भी चार दिन तक अनुमंडल स्तरीय क्वारंटन केंद्र में रखा जाएगा। केंद्र में निबंधन होते ही लोगों को मास्क दे दिया जाएगा। साथ ही, सेनेटाइजर और हैंडवाश की भी व्यवस्था कर दी जाएगी। केंद्र में रहने वाले लोग किसी भी हाल में क्वारंटीन अवधि में बाहर नहीं जाएंगे।

कैंप में होगी सारी जरूरी सुविधाएं

प्रधान सचिव ने सभी डीएम को भेजे गये पत्र में कहा है कि अनुमंडल स्तरीय क्वरंटीन कैंपों में बिजली, पानी, आवास और भोजन के साथ चिकित्सकीय सुविधा की उचित व्यवस्था होगी। हर क्वंरटीन कैंप में सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे। साथ उनकी बैरिकेडिंग की जाएगी। इसके अलावा वहां लाउड स्पीकर की व्यवस्था भी होनी चाहिए ताकि समय-समय पर रहने वाले लोगों को नियमों की जानकारी दी जा सके।

इन कैंपों में भोजन बनाने और लोगों को खाना परोसने में पूरी तरह साफ-साफई का भी ख्याल रखा जाएगा। बर्तन धोने के सभी स्थानों पर हैंड सेनेटाइजर और हैंडवाश की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। तले हुए भोजन की आपूर्ति कसी हाल में नहीं की जानी है। प्रधान सचिव ने सभी डीएम को कहा है कि क्वांरटीन केंद्रों के संचालन के लिए एक प्रभारी पदाधिकारी और उनके सहयोग के लिए जरूरी कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जानी चाहिए।