गुठनी में स्वास्थ्य व्यवस्था लचर, रेफर स्पेशलिस्ट बना अस्पताल

0
swasth

बदहाली और बदइंतजामी के दौर से गुजर रहा पीएचसी

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के गुठनी में स्वास्थ्य व्यवस्था का बुरा हाल है और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बदहाली के दौर से गुजर रहा है। जहाँ न तो पर्याप्त डॉक्टर है न ही कर्मचारी। किसी तरह से भगवान भरोसे चिकित्सा कार्य चलता है। कई अधिकारियों का तो अस्पताल मे दर्शन भी नहीं होता है। लगभग छः माह पहले अस्पताल के प्रभारी बने, इसी अस्पताल के चिकित्सक डॉ मोहम्मद शबीर अहमद ने चिकित्सा प्रभारी बने तो स्थानीय लोगों में आस जगी की अब अस्पताल की व्यवस्था सुचारु रूप से चलेगा और सभी कर्मी ससमय उपस्थित रहेंगे। लेकिन व्यवस्था जस का तस है। यहाँ प्रसव का कार्य भी एएनएम और आशा के भरोसे ही चलता है। यहां एक महिला चिकित्सक की प्रतिनियुक्ती भी नहीं है। प्रसव और नसबन्दी भी पुरुष चिकित्सक के भरोसे चलता है। दवा के नाम पर यहाँ महिलाओं को केवल आयरन की गोली दी जाती है जबकि कैल्शियम और आयरन के पर्याप्त मात्रा मे टेबलेट उपलब्ध भी हैं। वहीं सेजेरियन द्वारा प्रसव की कोई व्यवस्था ही नहीं है। प्री मैच्योर बेबी की सुरक्षा का भी कोई ईन्तजाम नहीं है। बताते चले कि पीएचसी में प्रत्येक सप्ताह के दो दिन मंगलवार और शुक्रवार को नसबंदी किया जाता है। आमतौर पर यहाँ सात चिकित्सको की आवश्यकता है लेकिन मात्र दो डॉक्टर ही प्रतिनियुक्त हैं। वही चिकित्सा प्रभारी सिर्फ मंगलवार को पीएचसी आते है और कर्मियों संग मीटिंग कर पुनः वापस चले जाते है। इतना ही नही यहाँ दो अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र भी हैं जहाँ अस्पताल के इकलौते आयुष चिकित्सक डॉ एजाज अहमद दोनों केंद्रो पर बारी बारी से मरीज देखते हैं। इस अस्पताल मे कम्पाउन्डर, ड्रेसर, लैब टेक्निशियन व आदेशपाल का पद पूर्णतः रिक्त है। ग्रेड ए की एक भी नर्स नहीं हैं 52 एएनएम के जगह मात्र 21ए एन एम ही यहाँ कार्यरत हैं। इसके अलावें यहाँ स्वच्छता निरीक्षक का भी एक पद है जिसपर पदाधिकारी भी पदस्थापित भी हैं। लेकिन काम बिल्कुल नहीं करते हैं। महिला स्वास्थ्य परिदर्शिका का भी वहीं हाल है। यहाँ दो-दो स्वास्थ्य प्रशिक्षक भी पदस्थापित हैं जो कभी भी अस्पताल मे नहीं दिखाई देते हैं और न ही उनका कोई कार्य ही दीखता है। एम्बुलेन्स भी जर्जर हो गया है। हमेशा खराब होने से समय से उपलब्ध भी नहीं रहता है जिसके वजह मरीजों को निजी वाहनों का इस्तेमाल करना पड़ता हैहेल्थ मैनेजर अस्पताल प्रबंधक जितेन्द्र सिंह ने बताया कि कम व्यवस्था मे बड़ी मुश्किल से अस्पताल की ब्यवस्था चल रहा है। जिसकी जानकारी चिकित्सा प्रभारी से लेकर वरीय पदाधिकारी को अवगत कराया जा चुका है। चिकित्सा पदाधिकारी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मोहम्मद शबीर अहमद ने बताया की अस्पताल में जीतनी सुबिधाये उपलब्ध है उतने में बेहतर तरीके से रोगियों का इलाज करने का प्रयास किया जाता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads