सिवान जदयू सांसद समेत उनके परिजनों पर हमले की योजना विफल, हथियार के साथ तीन अपराधी गिरफ्तार

0
  • गिरफ्तार अपराधियों में क्रमशः अवधेश सिंह के पुत्र राहुल सिंह, मनोज सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह एवं डेरा राय के बंगरा निवासी कामेश्वर सिंह के पुत्र भानु प्रताप सिंह हैं शामिल
  • एसपी के सूचना के बाद मुफ्फसिल थाना, हसनपुरा थाना, सिसवन थाना एवं चैनपुर ओपी पुलिस मौके पर पहुंची

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के सिसवन थाना क्षेत्र के नंदामुड़ा गांव स्थित सांसद के आवास पर सिवान के जदयू सांसद कविता सिंह एवं उनके पति जदयू नेता अजय सिंह पर हमला करने करने की नीयत से आए तीन अपराधियों को हथियार के साथ सांसद के सुरक्षा गार्ड एवं स्थानीय लोगों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया।गिरफ्तार अपराधी जिले के एमएचनगर थाना क्षेत्र के सिसवाकला गांव निवासी अवधेश सिंह के पुत्र राहुल सिंह, मनोज सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह एवं डेरा राय के बंगरा निवासी कामेश्वर सिंह के पुत्र भानु प्रताप सिंह बताए जाते हैं।पकड़े गए अपराधियों के पास से एक हथियार एवं चार जिंदा कारतूस बरामद किया गया है।मिली जानकारी के अनुसार अपराधियों के पास एक पिस्टल भी था जिसे अपराधियों ने लोगों एवं सुरक्षा बलों से घिरता देख पास के खेत कि झाडियों मे फेंक दिया।घटना के संबंध में सांसद पति अजय सिंह ने बताया कि शाम सात बजे के करीब हमलोग जब अपने दालान के आगे बैठे थे जहां माता जी का कलश स्थापन हुआ है कि उसी समय बोलेरो पर सवार चार पांच लोग मेरे दलान वाले रास्ते से तेज रफ्तार से जा रहे थे,बोलेरो कि तेज रफ्तार होने के कारण मैंने उन्हें तेज गति से गाड़ी चलाने से मना किया तब भी वे लोग नहीं माने।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

katta

जिसके बाद उनलोगों को रोकने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी।तब वे लोग अपनी गाड़ी रोके।गाड़ी रूकने के बाद उनलोगों कि पहचान क्षेत्रीय लोगों के रूप में हुई।जब उनलोगों से पुछताछ कि गई तब उनलोगों ने मुड़ा गांव के ही दिलीप सिंह के यहां जाने की बात कही, तब उन्हें छोड़ दिया गया।उन्हें छोड़ने के कुछ ही देर के बाद एक जान पहचान वाले व्यक्ति द्वारा मेरे मोबाइल पर फोन कर गोली चलाने की बात कहते हुए धमकी भरे लहजे में हमको देख लेने की बात कही जा रही थीं। तभी रात के करीब दस बजे मोटरसाइकिल पर सवार तीन हथियार बंद अपराधी हमला करने की नीयत से मेरे दलान पर आ धमके।उस वक्त सांसद एवं हमारे परिवार के सदस्य नवरात्र पर्व मे माताजी कि आरती की तैयारी में थे। बाईक से उतरकर राहुल नाम का एक अपराधी मेरे पास आया जो नशे में था।तथा दो युवक बाईक बैठ कुछ आगे अंधेरे में जाकर बाईक स्टार्ट करके खड़े थे।बाईक पर बैठे एक अपराधी मेरे पास खड़े अपराधी को बार बार हटने के लिए कह रहा था।

उस वक्त आसपास के लोग दर्जनों लोगों की भीड़ जमा हो गई। तब लोगों ने तीनों को पहचान लिया तथा छोड़ने की बात कहने लगे तब मैंने उन्हें छोड़ दिया तभी कुछ देर बाद वे लोग दुबारा मेरे दलान कि ओर आ धमके जिसके बाद सांसद के सुरक्षा गार्डों एवं स्थानीय लोगों ने तीनों को हथियार के साथ पकड़ लिया। इसकी सूचना एसपी को दी गई।जिसके बाद मुफ्फसिल थाना, हसनपुरा थाना, सिसवन थाना एवं चैनपुर ओपी पुलिस मौके पर पहुंची तथा पकड़े गए अपराधियों को अपने साथ थाना ले आई। अजय सिंह ने बताया कि शाम की घटना के बाद हमलोग सतर्क थे। जिसके चलते बड़ी घटना होते होते बच गई।

peoples,

कहीं अजय सिंह की हत्या के करने तो नहीं आए थे अपराधी ?

सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तीनों अपराधी बाहुबली अजय सिंह की हत्या करने की नीयत से आए थे। लेकिन सुरक्षा व्यवस्था को देखकर उनका मिशन कामयाब नहीं हो सका।तथा वे पकड़े गए। पकड़े जाने के बाद एक अपराधी के मोबाइल पर उत्तर प्रदेश के किसी डान नाम से सेव फोन नंबर से लगातार फोन आ रहे हैं। फिलहाल पुलिस मामले की गहन जांच पड़ताल कर रही है। थानाध्यक्ष कुमार वैभव ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों से पुछताछ कि जा रही है जल्द ही पुरे मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।