पूर्वा नक्षत्र में वर्षा होने से किसानों के चेहरे पर खुशी

0
kishan

परवेज़ अख्तर/सिवान:- करीब एक महीने से वर्षा का इंतजार कर रहे किसानों को शुक्रवार की सुबह बारिश होने से थोड़ी राहत मिल गई है। चंवरी व निचले क्षेत्र में लगी धान की फसल बाढ़ व अत्यधिक बारिश के पानी से डूबकर नष्ट तो हो हीं गई है। ऊपरी क्षेत्र की जमीन में लगी धान की फसल में करीब एक महीने से बारिश नहीं होने से पानी का अभाव दिखने लगा था। इससे किसानों को अपने फसल की चिंता सताने लगी थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

लेकिन पूर्वा नक्षत्र में हुई बारिश से इन फसल को फायदा होगा। शुक्रवार की सुबह इस नक्षत्र में हुई वर्षा से किसानों के मुरझाए चेहरे खिल उठे हैं। जानकार किसानों का कहना है कि पूर्वा नक्षत्र की वर्षा धान की फसल के लिए अमृत के समान है। कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ. आरके मंडल ने बताया कि यह वर्षा धान एवं अन्य फसलों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगी। इससे किसानों को लाभ अधिक और हानि कम होगी। सब्जी के फसलों को थोड़ी हानि हो सकती है, लेकिन इससे बचे हुए धान व मक्का की फसलों को काफी लाभ मिलेगा।