पुलिस की निष्क्रियता :-यूपी या बिहार किस गिरोह ने दिया घटना को अंजाम ? पुलिस को नहीं मिला सुराग !

0

रविवार की देर रात हुई थी सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या

परवेज़ अख्तर/सिवान :
गुठनी-मैरवा मुख्य मार्ग पर भठही गांव के समीप रविवार की देर रात स्कार्पियो सवार चार अपराधियों ने बोलेरो सवार सेवानिवृत्त दारोगा को गोली मार हत्या कर उनकी बोलेरो लूट ली। इस मामले में अपराधियों ने लूटी बोलेरो को सड़क किनारे छोड़ दिया जिससे पुलिस को लूटी गई गाड़ी बरामदगी में सफलता मिल गई। वरना वर्षों से कांडों के निष्पादन में सुस्त रफ्तार से चल रही पुलिस के हाथ पांव गाड़ी बरामदगी में फूल गए होते। इस घटना के पीछे किस गिरोह का हाथ है इसको बताने में पुलिस पूरी तरह से नाकामयाब रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

पुलिस को घटना क्रम के बारे में यह भी स्पष्ट नहीं हो सका है कि लूटेरे यूपी के थे या सिवान जिले के ही। पुलिस अब जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी का राग हर बार की तरह अलाप रही है। वहीं इस घटना के बाद अब यूपी में भी जिले की तस्वीर लोगों के बीच आपराधिक घटनाओं को लेकर अच्छी नहीं बन रही है। बॉर्डर पर रहने वाले लोग शाम होते ही अपने अपने घरों का रुख कर रहे हैं।

24 घंटे बीतने के बाद भी एसआइटी भी खाली हाथ

सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या मामले में 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ पूरी तरह से खाली है। 24 घंटे बाद भी पुलिस की स्थिति अंधेरे में तीर चलाने जैसी बनी हुई है। सेवानिवृत्त दारोगा हत्याकांड में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी अभिनव कुमार ने एसआइटी टीम गठित की है।रविवार की रात से ही एसआइटी टीम मामले की जांच में जुट गई है।पुलिस ने इस मामले में कई लोग को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया है। हत्याकांड की जांच व अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस मोबाइल सर्विलांस तकनीक का भी सहारा ले रही है।लेकिन अब तक वह किसी ठोस नतीजे पर अभी तक नहीं पहुंच सकी है।

सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या में चार अज्ञात के विरुद्ध  प्राथमिकी, अनुसंधान में जुटी पुलिस

गुठनी के भठही गांव के समीप मैरवा-गुठनी मुख्य मार्ग पर अपराधियों द्वारा सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या कर बोलेरो लूटने के मामले में चालक के बयान पर चार अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध लूट व हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने चालक को पूछताछ के बाद छोड़ दिया है। पुलिस अब अपने स्तर से जांच कर रही है। हालांकि घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई ऐसा कारनामा नहीं किया है जिससे यह साबित हो सके कि पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कांड के पीछे शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की फिराक में लगी है।थानाध्यक्ष मनोरंजन कुमार ने बताया कि सेवानिवृत दारोगा गोरख प्रसाद की हत्या मामले में चालक के बयान पर चार अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज हुई है।अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी चल रही है।जल्दी ही इस घटना शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी कर लिया जाएगा।