पुलिस पकड़ से बाहर है मुरली मनोहर पांडेय का हत्यारा

0
htyara

पांच माह पूर्व की गई थी मुरली की गोली मारकर हत्या

पुत्र के बयान पर सात हुए थे नामजद

घूम-घूमकर परिजनों को दे रही केस उठाने की धमकी

एक पखवारे पूर्व एक आरोपित का हो चुका है निधन

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के दरौली थाना क्षेत्र के नेपुरा गांव निवासी मुरली मनोहर पांडेय (57) का मुख्य हत्यारा पांच माह बाद भी पुलिस पकड़ से बाहर है। इसकी गिरफ्तारी पुलिस आज तक नहीं कर पाई है। उधर उसकी गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों में भय एवं दहशत का माहौल है। परिजनों को यह आशंका है कि घटना को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी कहीं घटना की पुनरावृत्ति दर्ज मुकदमे को लेकर न कर दें। परिजनों का कहना है कि पुलिस निष्क्रियता के चलते वह इलाके में खुलेआम घूम रहा है और मुकदमा वापस लेने की धमकी भी दे रहा है। इससे परिजनों में भय एवं दहशत का माहौल है। घटना के संबंध में जानकारी के अनुसार दरौली थाना क्षेत्र के नेपुरा गांव निवासी मुरली मनोहर पांंडेय की हत्या 9 नवंबर 18 की सुबह करीब आठ बजे भूमि विवाद को लेकर कर दी गई थी। इस घटना में मृतक के पुत्र अजय कुमार पांडेय के लिखित आवेदन पर थाना में प्राथमिकी कांड सं. 285/18 धारा 147, 148, 149, 302, 338 तथा आर्म्स एक्ट के तहत गांव के ही सनोज पांडेय, धनोज पांडेय समेत सात लोगों को आरोपित किया गया था। इसमें एक आरोपित सरल पांडेय की आकस्मिक निधन एक पखवारा पूर्व हो गया। दर्ज कांड के सूचक अजय कुमार पांडेय ने बताया कि घटना का मुख्य आरोपित सनोज पांडेय एक अपराधी छवि का व्यक्ति है जिसका सांठगांठ हमेशा अपराधियों से रहा है। वह इलाके में घूम-घूम कर धमकी दे रहा है। जब सकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी जाती है तारे पुलिस टाल मटोल कर देती है। परिजनों का कहना है कि अगर पुलिस प्रशासन कोई ठोस कदम नहीं उठाई तो आगे न्याय के लिए वरीय पदाधिकारियों के यहां जाने को विवश होंगे।