दरौंदा के मंछा गांव में प्रशासन पर हुए हमले के बाद प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने तीन को भेजा जेल

0

अतिक्रमण हटाने गई थी प्रशासन, अतिक्रमणकारियों ने किया था हमला

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दरौंदा थाना क्षेत्र के मंछा गांव में प्रशासन गुरुवार को अतिक्रमण हटाने गई थी. उस दौरान अतिक्रमणकारियों द्वारा प्रशासन पर ईट पत्थर एवं डंडे से प्रहार किया गया था. जिसमें कई लोग घायल हुए थे. जेसीबी का शीशा भी टूट गया था एवं चालक को गंभीर चोटे आई थी. जिसके बाद अंचलाधिकारी के आदेश के बाद थाना प्रभारी अजीत कुमार सिंह ने मंछा गांव निवासी प्रभुनाथ मांझी, हरिशंकर मांझी, पवन मांझी, केशव मांझी, सुनील मांझी, प्रेम मांझी, फूलमती देवी एवं मधु कुमारी पर थाना कांड संख्या 85/21 में प्राथमिकी दर्ज की थी. जिसके बाद दरौंदा थाना प्रभारी अजीत कुमार सिंह ने शनिवार की रात्रि में मंछा गांव में छापामारी करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने प्रभुनाथ माझी, फूलमती देवी एवं मधु कुमारी को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार तीनों लोगों को रविवार को जेल भेज दिया गया. बतादें कि घटना गुरुवार की है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जहां मंछा में ब्रह्म स्थान के भाऊली जमीन पर गांव के ही दलित लोगो के पूर्वज कई वर्षों से रहते थे और उसी जमीन पर अब उनके वंश रह रहे है. ग्रामीणों द्वारा ब्रह्म स्थान के जमीन पर चारो तरफ से घेराबंदी एवं चबूतरे के निर्माण के लिए पंचायत प्रतिनिधियों से मांग किया गया था. जिसके बाद पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा कहा गया था कि जमीन से अतिक्रमण हट जाएगा तो घेराबंदी एवं चबूतरे का निर्माण करा दिया जाएगा. जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा जिलाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को अतिक्रमण हटाने के लिए आवेदन दिया गया था. जिलाधिकारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी के आदेश पर दरौंदा अंचलाधिकारी ने गुरुवार को मंछा गांव में जाकर ब्रह्म स्थान के भावली जमीन पर दलितों द्वारा अतिक्रमण किए जाने के बाद प्रशासन का बुलडोजर चल गया. जिसके बाद अतिक्रमणकारियों द्वारा प्रशासन पर लाठी डंडा ईट से हमला कर दिया गया. किसी तरह प्रशासन जान बचाकर वहां से भागी एवं गुस्साए प्रशासन ने सभी आरोपियों पर दारौंदा थाना में प्राथमिकी दर्ज कर दी. जिसके बाद शनिवार की रात्रि में तीन लोगों को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेज दिया.