पुलिस पर बम, ईंट -पत्थर तथा कांच की बोतलों की होती रही बरसात, फिर भी उपद्रवियों के आगे डटी रही पुलिस

0
police team par hamla

एक भी उपद्रवियों को बख्शा नहीं जायेगा : थानाध्यक्ष

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के रौजा व कथक गौर गांव में उपद्रवियों को सदर एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय के नेतृत्व में करीब आधा दर्जन थानों की पुलिस के साथ करीब पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद गिरफ्तार किया. इस दौरान करीब एक दर्जन से अधिक बमों, ईंट-पत्थर तथा कांच की बोतलें पुलिस पर उपद्रवियों ने फेंका। ईंट एवं पत्थर से करीब आधा दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी मामुली रुप से जख्मी हो गये.इसके बावजुद पुलिस ने चार महिला सहित 28 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इसके पूर्व सदर एसडीपीओ ने घर में बंद उत्पाद विभाग के दोनों जवानों कृष्णा पासवान एवं धर्मेंद्र राम को बाहर निकाला।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

घटना के संबंध में उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर गुंजेश कुमार ने बताया कि वे सुबह करीब सात बजे दो वाहनों से सैप जवान एवं उत्पाद विभाग के जवानों के साथ छापेामरी करने के लिए रौजा गौर गांव गये. गाड़ी से उतरने के साथ ही सैकड़ों की संख्या में शराब के धंधेबाजों ने रड,डंडा एवं ईंट पत्थर से हमला बोल दिया. उन्होंने बताया कि अन्य साथी तो जान बचाकर भाग निकले लेकिन मेरे साथ एक कंस्टेबल एवं चालक को धंधेबाजों  ने पकड़कर जमकर पीटा.किसी तरह वहां से जान बचाकर वहां से निकले तथा जी.बी.नगर थाने की पुलिस को सुचना दिया. उन्होंने बताया कि शराब के धंधेबाजों से बचने के लिए दो जवान एक व्यक्ति के घर में जाकर छिप गये। उपद्रवियों ने उन्हें भी निकालकर मारने का प्रयास किया. इधर जी. बी. नगर थाने के घायल एएसआई कल्लु रजक ने बताया कि जब जवानों की मदद करने के लिए रौजा व कथक गौर गांव पहुंचे तो शराब के धंधेबाजों ने पुलिस दल पर पुन: हमलाकर मुझे तथा एसआई बिमलेश कुमार को लोहे के रड एवं डंडों से पीटाई कर जख्मी कर दिया.

करीब एक बजे अपराह्न में एसपी अभिनव कुमार भी घटना स्थल पर पहुंचे. सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने अपराह्न दो बजे दंगा नियंत्रण वाहन को थाने पर बुलाया. इस सन्दर्भ में जी. बी. नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया की पुलिस टीम पर हमला करने वाले सभी उपद्रवियों को हर हाल में गिरफ्तार कर लिया जायेगा। उपद्रवियों के गिरफ्तारी के लिए वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में एक छापेमारी दल का गठन किया गया है छापेमारी जारी है।