बड़हरिया में पंचायत चुनाव का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न

0
  • पुरुष से अधिक महिला मतदाताओं में देखा गया उत्साह
  • दिव्यांग और वृद्ध मतदाता में भी वोट देने बूथ पर पहुंचे

परवेज अख्तर/सिवान: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के छठवें चरण का मतदान शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हो गया। चुनाव शुरू होने से पहले ही महिलाओं की लंबी कतार बूथों पर देखने को मिली। पूरे प्रखंड में 383 बूथों में 18 चलंत मतदान केंद्र, एक सहायक मतदान केंद्र भी बनाया गया था। मतदान को लेकर पोलिंग पार्टी ने पांच बजे सुबह से मॉक पोलिंग प्रारंभ कर दिया था। मतदान के दौरान महिला मतदाताओं में काफी अधिक जागरूकता देखने को मिली। वहीं अलग-अलग खेमें में प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ नजर आए। मतदान के लिए बूथों की दूरी अधिक होने से मतदाता टेम्पो, रिक्सा, बाइक से मतदान केंद्र पहुंचे। चुनाव के दौरान कहीं-कहीं से हल्की झड़प की खबरें भी आईं। लेकिन मतदान के दौरान किसी के घायल होने की खबर नहीं है। सुबह सात बजे से मतदाताओ की भीड़ मतदान केंद्रों पर लाइन में लग गयी। शुरुआती दौर में कुडवां पंचायत के प्राथमिक विद्यायल कुवही, कोइरीगांवा पंचायत के उत्क्रमित मकतब करबला में ईवीएम खराब होने के कारण करीब एक घंटे तक मतदान बाधित रहा। वहीं सिकन्दर पुर पंचायत के पंचायत भवन चांड़ी के बूथ नं. 34 पर मुखिया पद का ईवीएम थोड़ी देर तक खराब रहा जो ठीक कर लिया गया। लकड़ी पंचायत के एनपीएस के बूथ संख्या 5 पर जिला परिषद का ईवीएम 10 बज कर 40 मिनट तक खराब रहा। ईवीएम बदलने के बाद मतदान सुचारू रूप से चालू हुआ। वहीं एसपी अभिनव कुमार पुलिस पदाधिकारी के साथ प्रखंड के पकड़ी, लकड़ी, लकड़ी दरगाह, ज्ञानीमोड़, कोइररगांवा, सदरपुर, पहाड़पुर, हरदोबारा सहित तमाम बूथों का दौरा किए। साथ ही पुलिस पदाधिकारियों ने अनावश्यक रूप से मतदान केंद्र पर मजमा लगाए लोगों को दौड़ाया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

चुनावी रंजिश में मारपीट

इधर चुनाव शुरू होने से पहले ही थाना क्षेत्र के हलीम टोला गांव में चुनावी रंजिश को लेकर मारपीट हो गई। जिसमें एक पक्ष के हैदर अली पुत्र मो. नुमान, खालिद हैदर, यास्मीन सबा, हाजरा अजीम सहित पांच लोग घायल हो गए। चुनाव के दौरान प्रत्याशियों के बीच झड़पें होती रही लेकिन मारपीट की नौबत नहीं आई। कोइरीगांवा के एक बूथ और प्राथमिक विद्यालय अटखम्भा के बूथ पर चुनाव कार्य में बाधा पहुंचाने को लेकर एक-एक असामाजिक तत्व को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। वहीं कोइरीगांवा के ही उत्क्रमित मध्य विद्यायल मकतब करबाला के एक मतदान कर्मी को पर्यवेक्षक ने अनुशासनहीनता को लेकर चुनाव कार्य से वंचित कर दिया। वहां दूसरे मतदानकर्मी को प्रतिनियुक्त कर दिया गया।

चुनाव संपन्न कराने में लगे रहे पदाधिकारी

मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने को लेकर पीसीसीपी, सेक्टर पदाधिकारी, सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट, सुपर जोनल मजिस्ट्रेट सहित पुलिस के पदाधिकारी दिन भर मतदान केंद्रों का दौरा करते रहे। वही जीएम हाई स्कूल परिसर में निर्मित कंटोल रूम में डीडीसी दीपक सिंह के नेतृत्व में जिले के तमाम वरीय पदाधिकारी प्रखंड के सभी 383 बूथों का पलपल का जायजा लेते रहे। मौके पर डीडीसी दीपक कुमार, डीपीआरओ राजकुमार गुप्ता, वरीय उप समरमहर्ता आयुष आनंद, प्रियंका कुमारी, निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ प्रणव कुमार गिरि, थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर, सीओ अनिल श्रीवात्सव, बीईओ शिवशंकर झा, बीएओ रवि शुक्ला, बीएसओ कृष्ण कुमार मांझी थे।

चुनाव खर्च का ब्योरा नहीं जमा किये प्रत्याशी

हसनपुरा: त्रिस्तरीय पंचायत में सभी प्रत्याशियों ने विभिन्न पदों के लिये चुनाव लड़े हैं। अभी तक चुनाव खर्च प्रखंड कार्यालय में जमा नहीं किये हैं। इस मामले में बीडीओ राजेश्वर राम ने बताया कि अभी तक प्रत्याशियों ने चुनाव खर्च का ब्योरा जमा नहीं किया है। जहां उन्हें शपथ ग्रहण के समय भी परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि जो भी प्रत्याशी मैदान में थे उन्हें शीघ्र प्रखंड कार्यालय में अपना चुनावी खर्च का ब्योरा जमा कर देना चाहिए। बता दें कि मुखिया पद से चुनाव के लिए अभ्यर्थियों को 40 हजार, सरपंच को 30 हजार, बीडीसी को 20 हजार, वार्ड व पंच को तीन-तीन हजार रुपया खर्च करना था। वहीं उन्होंने बताया कि अगर उक्त अवधि में चुनाव खर्च की राशि का बयोरा जमा नहीं होता है तो वैसे प्रत्याशी अगला चुनाव नहीं लड़ सकेंगे।