मुखिया सुनील कुमार सिंह हत्याकांड का मुख्य आरोपी प्रदीप यादव डेढ़ माह बाद गिरफ्तार

0

27 सितंबर को अपराधियों ने गोली मारकर कर दी थी हत्या

परवेज अख्तर/सिवान:
जिले के महाराजगंज प्रखंड के बलऊ पंचायत के मुखिया सुनील कुमार सिंह की हत्याकांड का मुख्य आरोपी सह षड्यंत्रकर्ता प्रदीप यादव को दारौंदा पुलिस ने एकमा थाना क्षेत्र के बदरजीमी स्थित उसके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार कर लिया है. बताते चलें कि गुप्त सूचना के आधार पर दारौंदा थाना प्रभारी अजीत कुमार सिंह ने अपने दल बल के साथ एकमा थाना क्षेत्र के बदरजीमी से मंगलवार की रात्रि छापेमारी की और प्रदीप यादव को गिरफ्तार कर लिया. ज्ञात हो कि पिछले माह 27 सितंबर को सीवान से अपने घर लौटने के क्रम में सीवान पैगंबरपुर पथ पर करसौत नहर पुल पर तकरीबन आधा दर्जन से ज्यादा गोलियों से छलनी कर मौत के घाट अपराधियों ने उतार दिया था. जिसके बाद मुखिया के पुत्र सुमित कुमार सिंह ने तीन लोगों को हत्या में संलिप्तता जाहिर का आवेदन दिया था.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

जिसमें रसूलपुर पंचायत के पूर्व मुखिया सत्येंद्र यादव, तक्कीपुर पंचायत के मुखिया पति सुनील कुमार राय तथा बलऊ पंचायत के नेरूआँ निवासी मुखिया प्रत्याशी प्रदीप यादव को आरोपी बनाया था. मामले में कांड संख्या 265/20 में तीन लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया था. हत्या के दो-तीन दिन के अंदर ही कोडरमा के एक होटल से सुनील राय को तथा छपरा से सत्येंद्र यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर चुकी है. मुख्य आरोपी हत्या के बाद प्रदीप यादव पुलिस के पकड़ से फरार चला रहा था. प्रदीप के विभिन्न ठिकानों पर पुलिस ने छापेमारी की. छापेमारी के बाद भी प्रदीप यादव पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा रहा था.

अंततोगत्वा मंगलवार की रात्रि पुलिस को सूचना मिली कि मुखिया हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रदीप यादव एकमा थाना क्षेत्र के बदर जिमी में अपने रिश्तेदार के घर छिपकर रह रहा है.सूचना मिलने के बाद दारौंदा पुलिस ने एकमा थाना क्षेत्र के बदरजीमी गांव में छापेमारी कर प्रदीप यादव को उसके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पिछले सप्ताह मुखिया सुनिल कुमार सिहं के घर पर धमकी का पंपलेट भी चिपकाया गया था. जिसेके बाद पूरा परिवार दहशत में जी रहा था. धमकी के पंपलेट के बाद पुलिस मुखिया के घर पहुंच मामले को गंम्भीरता से लेते हुए छापेमारी तेज किया और पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. एसडीपीओ पोलस्त कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपी से गहन पूछताछ की जा रही है.