जेल से रची थी ठेकेदार की हत्या की साजिश, छह गिरफ्तार

0
sp of siwan

नौ दिसंबर को कमला कंस्ट्रक्शन कंपनी के ठेकेदार की अपराधियों ने गोली मार कर दी थी हत्या

मुजफ्फरपुर जेल में बंद है चंदन सिंह, व्हाट्सएप के माध्यम से अपराधियों की थी बात, वीडियो बनाकर भेजता था अपने सहयोगियों को

जब्त मोबाइल में अत्याधुनिक हथियार के साथ सभी अपराधियों की तस्वीर

एमएचनगर थाना क्षेत्र पेटर की हत्या में भी पकड़े गए अपराधियों का है हाथ

01 पिस्टल, दो देशी कट्टा, 15 कारतूस पुलिस ने किया बरामद

04 लाख 50 हजार कैश व दो बाइक को बरामद

परवेज अख्तर/सिवान : नौ दिसंबर को पचरुखी थाने के पड़ौली नहर में कंस्ट्रक्शन कंपनी के पेटी कांट्रेक्टर सुमित तिवारी की हत्याकांड का उद्भेदन चार दिन बाद पुलिस अधीक्षक नवीन चंद्र झा ने प्रेस वार्ता कर गुरुवार को किया। उन्होने अपने आवास पर आयोजित प्रेस वार्ता में मामले की जानकारी दी। झा ने बताया कि घटना को अंजाम देने वाले छह अपराधियों को एक पिस्टल, दो देशी कट्टा, 15 जिंदा कारतूस, साढ़े चार लाख रुपये कैश व दो बाइक के साथ गिरफ्तार किया है। ये सभी मुजफ्फरपुर जेल में बंद कुख्यात चंदन सिंह के गुर्गे हैं। उसी के इशारे पर पेटी कांट्रेक्टर से 20 लाख की लेवी मांगी गई थी, नहीं देने पर ठेकेदार की अपराधियों ने दो गोली मार हत्या कर दी थी। सुमित की हत्या मुजफ्फरपुर जेल में बंद चंदन सिंह के इशारे पर हुई थी। एसपी ने बताया कि पहले ठेकेदार से दारौंदा में 28 नवंबर को रंगदारी मांगी गई थी, इसके बाद दारौंदा थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई और 10 दिन बाद ठेकेदार की पचरुखी में हत्या कर दी गई। हत्याकांड के उद्भेदन के लिए एसआइटी का गठन किया गया था, जिसमें एएसपी कांतेश मिश्रा, एसडीपीओ महाराजगंज संजय कुमार,व इंस्पेक्टर पदाधिकारी शामिल थे। इनके द्वारा लगातार छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान दारौंदा व पचरुखी के बीच से छह अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। सभी ने अपनी अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में दारौंदा थाना क्षेत्र धानाडीह निवासी विनोद सिंह,एमएचनगर थाना क्षेत्र डिब्बी निवासी अमित सिंह, दारौंदा थाना क्षेत्र ढहकनी निवासी अमित सिंह,सिसवन थाना क्षेत्र बखरी निवासी मन्नू सिंह उर्फ अभिमंयु सिंह,पचरुखी थाना क्षेत्र आलापुर निवासी नीरज सिंह, दारौंदा थाना क्षेत्र सेमरा निवासी कल्लू उर्फ घंटी है। एसपी ने बताया कि मामले में इनके गिरोह के कुछ अन्य सदस्यों की भी गिरफ्तारी होनी है, जिसके लिए छापेमारी की जा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

तीन शूटर को दी थी सुपारी

एसपी ने बताया कि बाइक पर सवार होकर तीन की संख्या में शूटर ठेकेदार की हत्या करने के लिए आए थे, और घटना को अंजाम देकर फरार हो गए। तीन शूटरों में दो की गिरफ्तारी हो गई है। जिसमें विनोद सिंह व अमित सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि एक अन्य की गिरफ्तारी जल्द कर दी जाएगी। बता दें कि अमित सिंह जेल में बंद चंदन सिंह का भतीजा है।

जब्त मोबाइल में हथिया के साथ हैं कई फोटो

पुलिस ने अपराधियों के पास से जो मोबाइल बरामद किया है उनमें अत्याधुनिक हथियार के साथ कई तस्वीरें हैं। जिन्हें हाथ में लेकर इन्होंने फोटो खींचा है। इस मामले में जांच चल रही है।

चंदन सिंह ने ही रची थी हत्या की साजिश

एसपी ने बताया कि मुजफ्फरपुर जेल में बंद चंदन सिंह ने ही जेल से रंगदारी की मांग की थी और उसके ही इशारे पर हत्या को अंजाम दिया गया। चंदन सिंह जेल में मोबाइल का प्रयोग कर रहा है और व्हाट्सएप के माध्यम से आॅडियो व वीडियो कॉल करके इन अपराधियों से बातचीत करता था। ये चंदन सिंह को साइट पर चल रहे कार्य की वीडियो बनाकर उसे भेजते थे। अमित सिंह ने लेवी के बाद से कई बार चंदन के व्हाट्सएप पर वीडियो और कार्यस्थल की तस्वीरें भेजी हैं।

मुन्ना हत्याकांड में भी स्वीकारी संलिप्तता

एमएचनगर थाना क्षेत्र के रहने वाले पेंटर मुन्ना की हत्या में भी इन अपराधियों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। एसपी ने बताया कि ये सभी अपराधी पहले भी आर्म्स एक्ट सहित लूट के मामले में जेल जा चुके हैं।

हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद

जिसे हथियार से ठेकेदार की हत्या हुई थी उस पिस्टल को बरामद कर लिया गया है।इतना ही नहीं 15 जिंदा कारतूस को भी बरामद किया गया है। हथियार की सप्लाई इनके पास कैसे हुई इसकी जांच चल रही है। 4 लाख 50 हजार रुपया बरामद पचरुखी थाना क्षेत्र आलापुर निवासी नीरज सिंह के घर पर छापेमारी के दौरान पुलिस ने 4 लाख 50 हजार रुपया बरामद किया।