दरौली में दुष्कर्म का विरोध करना पिता को पड़ा महंगा, मौत

0
vitodh

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के दरौली थाना क्षेत्र के रामपुनक गांव में बेटी की आबरू बचाने के लिए दुष्कर्म का विरोध करना महंगा पड़ा है. इस मामले में युवती के पिता की जान चली गई. बताया जा रहा है कि शुक्रवार की देर शाम रामपुनक निवासी एक 16 वर्षीय किशोरी शौच के लिए बाहर निकली थी. उसी दौरान गांव के शंभू पांडे के पुत्र राजीव रंजन पांडे उर्फ सन्नी और उसके मित्र सरहरवा निवासी पवन सिंह पिता बृज बिहारी सिंह ने उसे अकेला देख कर जबरन पकड़ दुष्कर्म करने का प्रयास किया. लड़की ने विरोध किया और जैसे तैसे वहां से भाग निकलने में सफल रही.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

घर पहुंच कर उसने घटना अपने परिवार को बता रही थी उसी वक्त हाथों में हथियार और लाठी डण्डा लिए शंभु पाण्डेय, सन्नी पाण्डेय, राजकरन पाण्डेय, पवन सिंह ,रामकृपाल पाण्डेय वहां आए और लाठी डंडो से पूरे परिवार को बुरी तरह से पीटा. इसी दौरान अनुराधा पांडे पिता शंभू पांडै ने भद्दी भद्दी गालियां देते हुए जान से मरवा देने की धमकी दिया. बताया ये भी जा रहा है कि पीड़ित पक्ष द्वारा कार्रवाई और अपनी सुरक्षा के लिए दरौली थाना में आवेदन देकर गुहार लगाया था.

लेकिन प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं हुई. फिर रविवार की रात्रि पुनः वहीं लोग हथियार और लाठी डंडो के साथ में आए और लड़की के पिता प्रहलाद दुबे के साथ मार पीट कर घायल कर दिया. जिससे इलाज के दौरान प्रहलाद दुबे की मौत हो गई. पुलिस रविवार देर रात राजकरन पांडे, अनुराधा पांडे और अनिता देवी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इस मामले में शुक्रवार को घटना घटने के बाद पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किया जाना और रविवार को मामला अत्यधिक गंभीर होने के बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया जाना कहीं न कही पुलिसिया रवैये पर सवालिया निशान खड़ी कर रही है. थानाध्यक्ष संजीव कुमार ने बताया कि इस मामले में अभी तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है. बाकी आरोपियों की तलाश जारी है.