सर्वे में दें सही जानकारी, तभी कोरोना संक्रमण के प्रसार पर लगेगा लगाम: आरएडी

0
  • डोर टू डोर सर्वे अभियान का क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक ने लिया जायजा
  • सर्वे अभियान में आम जनों से की सहयोग की अपील
  • सर्वे दलों को दिया आवश्यक दिशा निर्देश

छपरा:- 21 अप्रैल । घर-घर सर्वे अभियान में आशा व आंगनबाड़ी सेविकाओं को सही जानकारी दें, तभी कोरोना संक्रमण के प्रसार पर रोग संभव हो सकेगा। उक्त बातें क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ अरविंद कुमार गुप्ता ने डोर टू डोर सर्वे अभियान का जायजा लेते हुए कहीं।उन्होंने कहा सर्वे के दौरान एक भी घर छूटना नहीं चाहिए। उन्होंने सर्वे दल के कर्मियों को निर्देश दिया कि प्रत्येक घरों की गहनता से सर्वे की जाए तथा कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने वाले व्यक्तियों की पहचान कर उसकी पूरी जानकारी लें। शहर में चल रहा है डोर टू डोर सर्वे अभियान का क्षेत्रीय अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ अरविंद कुमार गुप्ता, आईसीडीएस के डीपीओ वंदना पांडेय, यूनिसेफ के जिला समन्वयक आरती त्रिपाठी समेत अन्य अधिकारियों ने जायजा लिया तथा सर्वे टीम को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। आरएडी और यूनिसेफ के एसएमसी ने शहर क्षेत्र के अजयगंज, फिदर बाजार, गुदरी मुहल्ला, आईसीडीएस के डीपीओ वंदना पांडेय ने शहर के सलेमपुर, राहत रोड व बी सेमिनरी स्कूल के आस पास इलाकों में चल रहे सर्वे अभियान का जायजा लिया।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

survey (2)

सर्वे अभियान में आमजनों की सहयोग अपेक्षित

क्षेत्रीय अपर स्वास्थ निदेशक ने कहा इस अभियान में आम जनों की सहयोग अपेक्षित है। स्वास्थ्य कार्यकर्ता आप आपके परिवार को स्वस्थ व समृद्ध बनाने में अहम भूमिका अदा कर रहे है । ऐसे में प्रत्येक जनमानस का कर्तव्य है कि वे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को अपने कार्यों के निर्वहन करने में अपना पूर्ण सहयोग व सही जानकारी प्रदान करें। ऐसा कर आप स्वयं वह अपने परिवार को इस संक्रमण से बचा सकते हैं।

संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए चल रहा अभियान

कोरोना संक्रमण के वैश्विक महामारी के मद्देनजर सामुदायिक संक्रमण की स्थिति पैदा ना हो इस को ध्यान में रखते हुए आशा कार्यकर्ता व आंगनबाड़ी सेविका के द्वारा जिले में घर घर जाकर कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों का सर्वेक्षण किया जा रहा है। ताकि चिन्हित व्यक्तियों को वांछित जांच एवं चिकित्सकीय सुविधाएं ससमय उपलब्ध करायी जा सके.

सर्वे के दौरान प्रत्येक घरों की हो रही मार्किंग

यूनिसेफ के एसएमसी आरती त्रिपाठी ने बताया पल्स पोलियो अभियान की तरह इस अभियान में भी कोरोना संक्रमण व्यक्तियों के घरों की मार्किंग की जा रही है । सर्वे कार्य के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा कोविड 19 फॉर्म उपलब्ध कराये गये हैं। इसमें तीन स्तरों पर सूचना एकत्रित किया जा रहा है। कोविड-19 फॉर्म के तहत पहला प्रपत्र स्थानीय स्तर पर नियुक्त किये गये दलकर्मी भर रहे है। कोविड 19 फॉर्म के तहत 2, 3 व 3 ए व 4 प्रपत्र को पर्यवेक्षक व फॉर्म 5 जिला स्तर पर भरने का काम किया जा रहा है। सर्वे के दौरान प्रत्येक घर में हाउस मार्किंग की जा रही है। संदिग्ध पाये गये व्यक्तियों के घरों पर मार्किंग की जा रही है।