नौतन प्रखंड के प्रमुख-पति राजेश पांडेय के भाई राजीव कुमार ने दिया कोरोना को मात

0
corona

परवेज अख्तर/सिवान: जहां कोरोना महामारी को लेकर तमाम तरह की नकारात्मक खबरें देखने और सुनने को मिल रही हैं, जिनसे लोगों में भय व्याप्त हो रहा हैं तथा कमजोर हृदय वाले लोग इसे बर्दाश्त भी नहीं कर पा जा रहे हैं. वहीं नौतन के गलिमापुर गांव से एक ऐसी सकारात्मक ख़बर निकल कर आ रही है, जिसे पढ़कर आम लोगों में एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और लोग समझ पाएंगे कि कैसे कोरोना जैसी घातक बिमारी को भी सही परामर्श से, सही समय पर, सही दवाओं के सेवन से मात दिया जा सकता हैं. हम बात कर रहे हैं नौतन प्रखंड प्रमुख-पति के छोटे भाई राजीव कुमार की, जो कि प्रथम श्रेणी के ठेकेदार हैं. वे दिनांक 14 अप्रैल 021 को कोरोना से संक्रमित हो गए थे. संक्रमण का स्तर इतना ज्यादा था कि घर के सदस्यों और उनके शुभचिंतको में हताशा फैल गई. चिकित्सकीय परामर्श के साथ घर पर ही उनका प्राथमिक उपचार प्रारंभ किया गया. लेकिन बीमारी दिन प्रतिदिन बढ़ती गई.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

फिर आईजीआईएमएस और डीएमसीएच से मेडिकल की पढ़ाई कर चुके डॉक्टर मुकेश कुमार से टेलीफ़ोनिक सहायता लिया गया. उनके दिशा-निर्देश में जांच में पता चला कि संक्रमण का स्तर दो तिहाई तक पहुंच चुका था. फिर भी डॉ मुकेश ने फोन पर ही परामर्श देते हुए इलाज प्रारम्भ किया, जिसमें अंग्रेजी दवाओं के साथ साथ कुछ प्रकृतिक व घरेलू उपचार के बल पर बीमारी कंट्रोल हुई और शीघ्र ही उनकी हालत में सुधार होने लगा. कुछ दिनों तक लगातार इलाज के बाद उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आ गई और वे आज पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं. इस बारे में राजीव पांडे ने  बताया कि गोपालगंज के डॉ अभितेष का भी अहम भूमिका रही है जो पूर्व में तिहाड़ जेल में सेवा देने के साथ-साथ मेडिकल ऑफिसर भी रह चुके हैं. उन्होंने यह संदेश दिया कि कोरोना से डरना या घबराना नहीं हैं, बल्कि सही समय पर सही इलाज लेकर कोरोना को मात देना है. इसके लिए उन्होंने उक्त दोनों चिकित्सकों से निःशुल्क परामर्श लेने की भी सलाह दी है.