असत्य पर सत्य की जीत को ले किया गया रावण वध

0
ravan

परवेज अख्तर/सिवान : विजयादशमी के मौके पर शहर के वीएमएच स्कूल के मैदान में शुक्रवार की शाम रावण वध समिति द्वारा रावण दहन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसको लेकर दोपहर बाद से ही लोगों में काफी उत्सुकता देखी गई। ज्यों-ज्यों शाम ढलती गई तो लोगों की भीड़ वीएमएच स्कूल की ओर बढ़ती गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सदर विधायक व्यासदेव प्रसाद, एसपी नवीन चंद्र झा, एडीएम विधुशेखर चौधरी, डीडीसी सुशील कुमार, एसडीओ अमन समीर एवं एएसपी कांतेश कुमार मिश्रा, कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार आदि मौजूद थे। इस मौके पर कार्यक्रम देखने आए लोगों से समिति तथा मुख्य अतिथियों द्वारा सिवान को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में सहयोग करने का आह्वान किया गया। अतिथियों ने कहा कि यह पर्व अपने तथा समाज की बुराइयों को दूर करने का संदेश देता है। व्यासदेव प्रसाद ने कहा कि हमारे उत्सव व्यक्ति को सामूहिकता की तरफ,समाज के प्रति संवेदनशीलता की ओर ले जाते हैं। राजद नेत्री हिना शहाब ने कहा कि नवरात्रि के नौ पावन दिनों के पश्चात दशहरा दरअसल स्वयं के पुर्नपरिचय का महाकाल है, आंतरिक जागरण का कालखंड है। नवरात्रि का पर्व किसी पंडाल में स्थापित देवी की कृपा प्राप्त करने का नहीं, बल्कि अपने ही भीतर के सप्तचक्रों पर विराजित अपनी ही नौ शक्तियों के बोध और अपनी बाह्य ऊर्जा से नौ गुनी शक्तिशाली आंतरिक ऊर्जा को सहजता और सरलता पूर्वक सक्रिय करने की पावन बेला है। इसके पहले श्रीराम, सीता, लक्ष्मण एवं हनुमान की झांकी गाजे-बाजे के साथ पहुंची तो सभी की नजर उस ओर हो गई और जय श्रीराम के उद्घोष से वातावरण गूंज उठा। तत्पश्चात भगवान श्रीराम, सीता, लक्ष्मण की आरती हुई। फिर लंका दहन, मेघनाथ का, कुंभकर्ण तथा अंत में रावण का पुतला जलाया गया। इस मौके पर पटाखों की आवाज से पूरा वातावरण गूंज उठा। सुरक्षा व्यवस्था को ले काफी संख्या में महिला-पुरुष जवान तैनात थे। इस मौके पर अध्यक्ष विकास कुमार सिंह जीशू, वरीय उपाध्यक्ष राजीव रंजन राजू, महासचिव कैलाश कश्यप, जिला परिषद अध्यक्ष संगीता चौधरी, नगर उपसभापति बब्लू साह, धनंजय सिंह,सुधीर जयसावाल, राजद जिलाध्यक्ष परमात्मा राम, जदयू जिलाध्यक्ष इंद्रदेव सिंह पटेल, रघुनाथपुर विधायक हरिशंकर यादव, पूर्व कबीना मंत्री अवध बिहारी चौधरी, पूर्व मंत्री इंद्रदेव प्रसाद, लीलावती गिरी, पूनम गिरि, लिसा लाल, रंजना श्रीवास्तव, राहुल तिवारी, राजेश श्रीवास्तव समेत समिति के सभी पदाधिकारी और सदस्य मौजूद थे। महाराजगंज में विभिन्न जगहों पर रावण दहन किया गया। राम, सीता, हनुमान की झांकी को शहर के विभिन्न मोहल्ले से भ्रमण कराते हुए नागाजी के मठ पर पहुंचाया गया, जहां समिति के सदस्यों ने पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना के बाद रावण का दहन किया। फुलेना स्मारक, राजेंद्र चौक, पसनौली, पकवा इनार सहित कई जगहों पर रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित हुआ। दारौंदा के बगौरा के काली मंदिर परिसर में शनिवार की रात रावण का पुतला दहन किया गया। वर्षो से चली आ रही परंपरा में शाम में वैष्णो देवी, राम, लक्ष्मण, हनुमान, जामवंत की झांकी निकली गई। झांकी बगौरा गांव का भ्रमण कर वापस मंदिर परिसर में पहुंची, जहां भारी भीड़ के बीच राम के वाण से रावण का पुतला दहन किया गया। आंदर प्रखंड के आसांव बाजार में रावण का पुतला दहन किया गया। जिले के अन्य इलाकों में भी दशहरा को रावण दहन कर बुराई पर अच्छाई के प्रतीक वाले पर्व को मनाया गया। भगवानपुर में भी पुतला दहन किया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal