दरौली निबंधन कार्यालय में नहीं हुई जमीन की रजिस्ट्री

0

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के दरौली मुख्यालय स्थित निबंधक कार्यालय द्वारा एक तुगलकी फरमान के कारण मंगलवार को भूमि क्रेता एवं विक्रेताओं द्वारा अपनी भूमि का निबंधन नहीं कराया गया, जिससे विभाग को लगभग चार से पांच लाख रुपये राजस्व की हानि हुई हो गई है। गौरतलब है कि महानिरीक्षक निबंधन विभाग द्वारा एक पत्र के आलोक में भूमि क्रेता एवं विक्रेताओं द्वारा ई-चालान बैंक आॅफ इंडिया, बैंक आफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक एवं भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शाखा में ही जमा कर अपनी भूमि का निबंधन करा सकते हैं। उसी के आलोक में सीओ सह निबंधक पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा द्वारा मंगलवार को निबंधन कराने आए क्रेता एवं विक्रेताओं को ई-चालान जमा करने के लिए गुठनी स्थित भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में निर्देश दिया गया। जिसके बाद सभी क्रेता एवं विक्रेताओं द्वारा दरौली से गुठनी की दूरी 14 किलोमीटर होने एवं इ-चलान के रुपये ले जाने के क्रम रुपये छिनतई की अंदेशा होने को लेकर क्रेता एवं विक्रेताओं द्वारा अपनी भूमि की रजिस्ट्री कराने से इन्कार कर दिया गया। मंगलवार को भूमि निबंधन कराने कर्ण सिंह, प्रभावती देवी, शीला देवी, प्रशांत कुमार, रामविलास पांडेय द्वारा आवेदन दे मांग किया गया हम सभी के साथ दरौली से गुठनी लगभग 14 किलोमीटर ई-चलान जमा करने जाने के दौरान कभी भी अनहोनी हो सकती है। उन लोगों द्वारा मांग किया गया कि मुख्यालय स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शाखा में ही ई-चलान रुपए जमा कराने की अनुमति दी जाए। जानकारी हों कि मंगलवार से पहले निबंधक विभाग का ई-चालान मुख्यालय स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया शाखा में जमा किया जाता रहा है। इस संबंध में सीओ सह निबंधक पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि क्रेता व विक्रेताओं के ई-चलान जमा करने की समस्याओं को जिला निबंधक पदाधिकारी को लिखा जाएगा।