लॉक डाउन में पलायन कर रहे लोगों के लिए बढ़ रहे हैं राहत के हाथ

0
majdurr

परवेज अख्तर/सिवान:- देश मे लॉक डाउन के बीच पलायन करते बिहारी मजदूर जो कि गोरखपुर-छपरा रेलखंड के पटरी होते हुए हजारों की संख्या में अपने गाँव जाने के लिए विवस हैं जिसे देख किसी का भी हृदय छिन्न हो सकता है। इसी को नजर में रखते हुए स्थानीय पूर्व मुखिया सह राजद के वरिष्ठ नेता हरेन्द्र सिंह ने राहगीरों के लिए चिउरा-मिठ्ठा, बोतल का पानी तथा भोजन की व्यवस्था विजयीपुर ढाला पर की है। शुक्रवार की सुबह बिहारी मजदूरों को चिउरा-मिठ्ठा बाटते तथा सभी को भोजन कराते हुए श्री हरेन्द्र सिंह ने बताया कि जब से बिहारी मजदूर रेल लाइन की पटरी होकर आने लगे तभी से इन प्रकार के व्यवस्था की जा रही है। उन्हों ने केंद्र सरकार के इस लॉकडाउन को देश के लिए सही फैसला बताते हुए कहा कि सरकार इन गरीब मजदूरों की उपेक्षा कर रही है इन मजदूरों को सही सलामत उनके घर तक पहुंचना सरकार का दायित्व है क्योंकि संकट के इस घड़ी में सभी लोगों की इकक्षा होती है कि वे अपने परिवार के साथ अपने घर रहें। सर पर समान तथा अपने गोद मे बच्चे को लेकर दिल्ली से मिलों पैदल अपने राज्य आ रहे मजदूर केंद्र और राज्य सरकार की विफलता का भोग झेल रहें है। मानवता को शर्मशार करने का यह जीता-जागता उदाहरण है।सरकार ने इन मजदुरों को मिलो भूखे पैदल चलने पर मजबूर किया है। गरीब मजदुरों को भोजन कराने में सहयोग कर रहे विजयीपुर मोड़ के सभी व्यक्तियों का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि भूखे मानव को भोजन कराना ही सबसे बड़ी सच्ची सेवा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal