शहीद श्याम नारायण यादव के गांव ठेपहां से चंद्रशेखर शहीद स्मारक तक निकाला क्रांति मार्च

0
shaid

परवेज़ अख्तर/सिवान : भाकपा-माले ने रविवार को संघ के पूर्व अध्यक्ष चंद्रशेखर व श्यामनारायण यादव का 22 वां शहादत दिवस मनाया। इस दौरान शहर के गोपलगंज मोड़ पर दिल्ली, पटना व गुजरात के दर्जनों नेताओं ने शिरकत किया। इसके बाद श्याम नारायण यादव के गांव ठेपहां से चंद्रशेखर स्मारक स्थल तक सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं द्वारा क्रांति मार्च निकाला गया। गोपालगंज मोड़ स्थित चंद्रशेखर की प्रतिमा पर कार्यकर्ताओं ने माल्यापर्ण किया। कार्यक्रम में विधायक व दलित नेता जिग्नेश मेवाणी,भाकपा माले के ब्यूरो सदस्य कविता कृष्णन, जेएनयूएसयू के वर्तमान अध्यक्ष एनसाई बाला, पूर्व अध्यक्ष सुचेता डे, गीता कुमारी, वर्तमान उपाध्यक्ष सागरिका, अहमदाबाद विवि के प्रोफेसर बागची, भाकपा माले के पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेंद्र झा, माले प्रत्याशी अमरनाथ यादव, दरौली विधायक सत्यदेव राम, जिला परिषद की सदस्य पिंकी देवी,पूर्व जिला परिषद सदस्य रिजवान साहेब, जिला परिषद अध्यक्ष संगीता यादव आदि ने चंद्रशेखर व बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। जेएनयूएसयू के वर्तमान अध्यक्ष एनसाई बाला ने अपने संबोधन में कहा कि मोदी के फासीवादी शासन में आज देश का संविधान, लोकतंत्र, आरक्षण सबकुछ खतरे में है। इसलिए मोदी को हटना हमारी प्राथमिकता है। हम चंदू के विवि से आए हैं और उनके संघर्ष को आगे बढ़ाने का संकल्प लेते हैं। धीरेंद्र झा ने कहा कि 1992 में बाबरी मस्जिद की शहादत के उपरांत देश को बचाने के अभियान में चंद्र उतरे थे। आज वहीं ताकतें दुर्भाग्य से सता में है इसलिए उनको हटाना हमारा प्रमुख काम है। सिवान में जो ताकतें योगी का प्रतिनिधित्व बनकर सामंति ताकतों का मनोबल बढ़ाने सिवान के चुनाव में उतरी है उन ताकतों को भाकपा-माले ही जवाब दे सकती है। सभा को अमरनाथ यादव व सत्यदेव राम ने भी संबोधित किया।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here