सीतामढ़ी में फिर डकैती…. फौजी के घर डकैतों का तांडव….10 लाख की संपत्ति लूटी

0

पटना: सीतामढ़ी में डकैतों ने एक बार फिर तांडव मचाया है। शहर से सटे भू भैरो मठ कांटा चौक के समीप हथियारों से लैस डकैतों ने बुधवार की रात घर में मौजूद मासूम को बंदूक की नोक पर रखकर डकैती की इस बड़ी घटना को अंजाम दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

इस डकैती में डकैतों ने लगभग 10 लाख की संपत्ति लूटी है। मौके पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। परिजनों ने बताया कि हथियारों से लैस डकैतों ने सवा एक बजे घर में प्रवेश किया। वहीं, करीब ढ़ाई बजे बाहर निक्ले। सवा घंटे मिनट तक डकैतों ने घर में उत्पात मचाया।

सभी डकैत घर की दीवार फांदकर कैंपस में रखे बांस की सीढ़ी के सहारे छत पर चढ़ गए। वहीं, छत के गेट का लॉक तोड़कर रूम में प्रवेश किया। फिर निकलते समय मेन गेट के लॉक को तोड़कर फरार हो गए। गृह स्वामी के 6 वर्षीय पोता तरुण और 8 वर्षीय पोती सुप्रिया ने घटना के बाद अपने दादा को फोन कर इसकी जानकारी दी।

दोनों बच्चों ने बताया कि घर में घुसे डकैतों ने दादी की जमकर पिटाई भी की। हम दोनों भाई बहन के माथे पर बंदूक सटाकर कहा कि हल्ला करोगे तो गोली मार देंगे। गृह स्वामी की पत्नी चंद्ररेखा देवी ने बताया कि डकैत सबसे पहले हमारे रूम में घुसे और सोयी अवस्था में ही मारपीट करने लगे। शरीर पर पहने सभी जेवरात नोच लिये। फिर डकैतों ने मां के साथ सोए बच्चों को गन पॉइंट पर ले लिया।

फिर गृह स्वामी की बहू के शरीर से सारे जेवरात उतरवा लिये। वहीं, घर के गोदरेज में रखें करीब पांच लाख के जेवरात और 1लाख नगद ले लिया। फौजी जितेन्द्र ठाकुर की पत्नी चंद्र रेखा देवी ने बताया कि सभी बदमाश हथियार लिए हुए थे। एक के हाथ में बंदूक था और दो के हाथ में रॉड और एक के हाथ में पेचकस बगैरह था। घर के अंदर चार बदमाश प्रवेश किए थे लेकिन बाहर में आधा दर्जन के करीब बदमाश खड़े थे।

डकैत कभी पेचकस तो कभी रिंच मांग रहे थे। महिला के बाहर निकलने पर दोनों बच्चों को मारने की धमकी दी। सभी डकैत शर्ट-पैंट पहने हुए थे और काले रंग के कपड़े से पूरे मुंह को बांध रखा था। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार पिता और पुत्र दोनों देश की सेवा कर रहे हैं। पिता जितेन्द्र ठाकुर कोलकाता के कलाइटुंडा में पोस्टेड है। वहीं, बेटा दिलीप कुमार गुजरात के जामनगर में एयर फोर्स में कार्यरत है।