रोहित ने फायरिंग व कल्चर में बिखेरा जलवा

0
ncc

प्रवेज़ अख्तर/सिवान- “कौन कहता है आसमां में सुराग नही होते , अरे एक पत्थर को तबियत से उछालो यारो”उक्त पंक्ति को चरितार्थ कर रहे है, जिले के महाराजगंज प्रखंड के जी.बी नगर थाना क्षेत्र के रोहित कुमार तिवारी। बता दें कि दो बिहार  बटालियन एनसीसी ग्रुप मुजफ्फरपुर के तरफ से मुजफ्फरपुर मुख्यालय के एल. एस कॉलेज के प्रांगण में चल रहे 10 दिवसीय सी.ए. टी.सी.कैम्प में सिवान जिले के जी.बी.नगर थाना क्षेत्र के माधोपुर गाँव निवासी बिजेन्द्र तिवारी के पुत्र रोहित कुमार तिवारी ने सी.ए. टी. सी कैम्प  में फायरिंग व कल्चर में जलवा बिखेरते हुए अपने बटालियन में प्रथम स्थान लाकर अपने गाँव  ही नही बल्कि सिवान जिले का नाम रौशन कर दिया है।

ncc

किसान के इस बेटे की सफलता पर सबको है गर्व

रोहित के इस सफलता कि सुचना जैसे ही उनके गांव व परिवार वालों को मिली सब ख़ुशी से झूम उठे। गांव से लेकर शहर तक सभी अपने इस लाल के सफलता पर फुले नही समा रहे है। ग्रामीणों व घरवालों का कहना है कि रोहित के इस करतब से हमलोगों का नाम समूचे राज्य में गौरवान्वित हुआ है। सब बच्चे पढ़े व कुछ अलग करें तब सबका विकास सम्भव हो सकेगा। कठिन परिश्रम व सच्चे लग्न से मनुष्य कुछ भी कर सकता है। बता दें कि रोहित ने सबसे अच्छा प्रदर्शन फायरिंग में किया उसने  0.22 डीलक्स राइफल से 25 मीटर तक का निशाना साधा तथा कल्चर में अच्छा गीत गाकर सबको भावुक कर दिया।रोहित के अच्छा प्रदर्शन से पूरे माधोपुर पंचायत में खुशी की लहर है। अपने इस सफलता का श्रेय रोहित ने अपने माता संध्या देवी व पिता बिजेन्द्र तिवारी को दी है। रोहित ने बताया कि आगे चलकर मैं कठिन परिश्रम कर देश की सेवा के लिए फौज के अच्छे पद पर जाने के लिए प्रयास करूँगा। रोहित के पिता एक किसान है, जबकि माता अपने घर का काम करती है। रोहित अपने भाई व बहनों में तीसरा नंबर का पुत्र है।ग्रामीण बताते है कि रोहित शुरू से ही मेघावी छात्र के साथ-साथ स्पोर्ट (खेल-कूद) में रुचि रखता था।ग्रामीणों के बीच इसकी सफलता पर गर्व है।

Loading...