चार वर्षीय मासूम की दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या

0
murder in barharia

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के लकड़ी पंचायत के इजमाली गांव में शनिवार की रात चार वर्षीय मासूम की दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या कर दी गई। आरोपित ने मासूम के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और गला दबाकर उसे मौत के घाट उतारने के बाद उसके शव को पास के मक्के के खेत में मिट्टी खोद छिपा दिया। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार मो. धन्नु बड़हरिया थाना क्षेत्र के लकड़ी दरगाह पंचायत के इजमाली गांव का बताया जाता है। इस मामले में पुलिस ने कुछ अन्य संदिग्धों को हिरासत में लिया है। जिनसे पूछताछ चल रही है। पुलिस ने रविवार की सुबह मृत बच्ची के शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। मामले में महिला थाना, बड़हरिया थाना ने संयुक्त रूप से कार्रवाई की। मासूम के शव का पोस्टमार्टम करने वाली मेडिकल डॉक्टर मिताली ने बताया कि बच्ची के शरीर पर कई जगह जख्म के निशान थे। उसकी हत्या गला दबाकर की गई है। आंखों में काफी सूजन था। प्रथम दृष्टया में यह सामूहिक दुष्कर्म नहीं है। रिपोर्ट आने के बाद ही सबकुछ स्पष्ट हो पाएगा। बताया जाता है कि गांव में मिलाद शरीफ का कार्यक्रम कर चल रहा था। साउंड और लाइट देख मासूम अपने घर से बाहर खेलने के लिए निकली तभी आरोपित ने उसे चॉकलेट देने के बहाने अपनी बातों में फंसा लिया और उसे पास के मक्के के खेत में लेकर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद आरोपित धन्नु ने मासूम के कपड़े से ही उसकी गला दबा कर हत्या कर दी। इधर देर रात तक जब बच्ची अपने घर नहीं पहुंची थी तो परिजनों ने ग्रामीणों संग उसकी तलाश शुरू की। तभी धन्नु ने खोजबीन कर रहे लोगों को बताया कि वह पास के खेत में जा रही थी वहां जाकर उसकी तलाशी करें। जब ग्रामीण खेत में पहुंचे तो मिट्टी में मासूम का आधा शरीर ढका हुआ देखा। ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब धन्नु से पूछताछ की तो वह घबड़ा गया जिस पर पुलिस को शक होने लगा। इसके बाद पुलिस ने जब धन्नु के कपड़े खोलवा कर उसकी तलाशी ली तो उसके शरीर में खून के धब्बे पाए गए और हाथ के नाखून में मिट्टी पाए गए। जिसके बाद पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने दुष्कर्म और हत्या की बात स्वीकार ली।

पोस्टमार्टम के बाद शव पहुंचते ही मचा कोहराम

बड़हरिया क्षेत्र के इजमाली गांव में शनिवार की रात दुष्कर्म की घटना के बाद मासूम की हत्या किए जाने से जहां पूरा गांव शर्मसार था। वहीं रविवार की सुबह जब पुलिस बच्ची का शव लेकर उसके गांव पहुंची तो कोहराम मच गया। बता दें कि मासूम के परिवार वाले आर्थिक स्थिति से कमजोर हैं और मासूम के पिता विदेश में रहकर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। इधर परिजनों के हृदयविदारक चीत्कार से पूरा गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। मृतका की मां अपनी बच्ची के शव से लिपट-लिपट कर रो रही थी। उसके हृदयविदारक चीत्कार से उपस्थित लोगों का कलेजा पसीज जा रहा था। वही रो-रोकर बेहोश हो जा रही थी। मृतका दो बहनों में बड़ी थी। छोटी बहन दो वर्ष की है। उधर पोती के खोने के गम में उसकी वृद्ध दादी का भी रो-रोकर बुरा हाल था। रोते-रोते उसके आंखों से आंसू ही सूख गए थे। पुत्री की मौत पर उसकी मां रोते-रोते खो रही थी कि मेरी प्यारी लाडली गांव में हो रहे मिलाद शरीफ के प्रोग्राम को लेकर घूम रही थी तभी दरिंदे ने मेरी पुत्री को अगवा कर ऐसी शर्मसार घटना को अंजाम दिया। मृतक के पिता मो. राजा उर्फ पप्पू विदेश में गाड़ी चलाते हैं जो एक माह पूर्व ही बाहर गए हुए थे।

पिता ने विदेश जाते समय बच्चियों को सही सलामत रखने की दी थी हिदायत

एक माह पूर्व मृतका के पिता जब कमाने के लिए विदेश जा रहे थे तो अपने दोनों अबोध बच्चियों को सही सलामत रखने की हिदायत अपनी पत्नी को दिया था और कहा था कि जमाने के हिसाब से दोनों बच्चियों पर कड़ी नजर रखना लेकिन जिस डर से पिता आशंकित था वह उसके जाने के बाद हो गया। उधर लाडली की निर्मम हत्या की खबर विदेश में रह रहे पिता को लगी तो वे विदेश में रोते-रोते बेसुध हो गए। परिजनों ने बताया कि मृतका को परिवार के सभी लोग उसे बहुत प्यार स्नेह देते थे।

रोते बिलखते परिजन
रोते बिलखते परिजन

पुलिस ने पोस्टमार्टम के समय मामले को की दबाने की कोशिश

रविवार की सुबह जब सदर अस्पताल में मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस लेकर पहुंची तो इस मामले के बारे में पूछताछ करने पर कुछ भी बताने से इन्कार कर दिया। सुबह सुबह महिला थाना, नगर थाना और बड़हरिया थाना के पुलिस पदाधिकारियों ने पहले चाय पीने के बहाने अस्पताल में आने की बात कही और बाद में किसी भी घटना से इन्कार कर दिया। इधर पुलिस ने मृत बच्ची के परिजनों को भी मीडिया से कुछ बताने से मना कर दिया। लेकिन बाद में मामला सबकुछ सामने आ गया।

गांव के मस्जिद में हुई एलान तो धन्नु बताने लगा ठिकाना

गांव से लापता हुई मासूम की खोजबीन के लिए जब मस्जिद में एलान किया गया तो गांव में हलचल मच गई। एलान का आवाज सुनकर घटना को अंजाम देने वाला मो. धन्नु आया और परिजनों से कहा कि आलमगीर के घर के तरफ मक्का के खेत में जाते हुए मैंने देखा।

मासूम को क्या पता था कि मिलाद के बाद उसकी हो जाएगी हत्या

बड़हरिया थाना क्षेत्र के इजमाली गांव की मासूम को क्या पता था कि मिलाद के दौरान खेलने के क्रम में उसके साथ इस तरह का कुकर्म किया जाएगा और उसके बाद उसकी निर्मम हत्या कर दी जाएगी।

पोस्टमार्टम के बाद शव पहुंचते ही मचा कोहराम

रविवार की सुबह जब सदर अस्पताल में मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस लेकर पहुंची तो इस मामले के बारे में पूछताछ करने पर कुछ भी बताने से इन्कार कर दिया। सुबह सुबह महिला थाना, नगर थाना और बड़हरिया थाना के पुलिस पदाधिकारियों ने पहले चाय पीने के बहाने अस्पताल में आने की बात कही और बाद में किसी भी घटना से इन्कार कर दिया। इधर पुलिस ने मृत बच्ची के परिजनों को भी मीडिया से कुछ बताने से मना कर दिया। लेकिन बाद में मामला सब कुछ सामने आ गया।htya

गांव के ही कब्रस्तान में दफनाई गई मासूम

मृत मासूम बच्ची का जनाजा रविवार को जोहर का नमाज अदा करने के बाद गांव के ही कब्रिस्तान में गमगीन माहौल में दफनाया गया। जनाजे में काफी संख्या में लोग शामिल हुए और अल्लाह से मृत बच्ची के आत्मा के शांति के लिए दुआ मांगी।