यज्ञ कराने से होता है विश्व का कल्याण : संगीता गार्गी

0
ygy

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के सकरा बाजार पर चल रहे सात दिवसीय हनुमत प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के छठे दिन आचार्य पंडित मुरारी पाठक ने बताया कि यज्ञ में 33 करोड़ देवी-देवताओं का आह्वान किया जाता है जिससे विश्व कल्याण में सुख समृद्धि होती है। यही नहीं यज्ञ करने और कराने से सभी दुखों का नष्ट होता है तथा शांति मिलती है। उन्होंने बताया कि यज्ञ के दौरान हवन करने का बहुत बड़ा महत्व है जिससे हवन की जाती है। भागवताचार्य पंडित रामानुज शास्त्री ने बताया कि यज्ञ में दान देने से धन की कमी नहीं होती है, इसलिए सभी को यज्ञ में दान देना चाहिए। यज्ञ स्थल की प्रदक्षिणा करने का बड़ा महत्व है, इसलिए यज्ञ स्थल का प्रतीक्षा करना अनिवार्य है। प्रवचनकर्ता कुमारी संगीता गार्गी ने राम भक्त हनुमान कथा और श्रीरामचंद्र की कथा सुनकर श्रोता झूम उठे और जय श्रीराम जय श्रीराम की जय घोष से वातावरण भक्तिमय हो गया। उन्होंने कहा कि राम भक्त हनुमान सीता की खोज करते हुए सोने की लंका में आग लगा दी, वहीं मूर्छित पड़े लक्ष्मण के प्राण बचाने के लिए संजीवन बूटी की पहचान नहीं होने पर पर्वत ही उठा लाए जिससे लक्ष्मण के प्राण बचाई गई। इस दौरान बिट्टू बाबा, ब्रजेश चतुर्वेदी, कुंदन कुमार, पंडा बाबा, चुन्नू बाबा पंडित, राधारमण महाराज, मनोज सोनी, राजकुमार उपाध्याय, मनोज सिंह,रामएकबाल भगत, अरुण चौरसिया, आनंद मोहन सिंह, शंभू कुमार, बाबू नंदकुमार, हकीम मंसूरी, जवाहर प्रसाद, प्रमोद सिंह, सत्य प्रकाश उपाध्याय, अनूप सोनी समेत काफी संख्या में श्रोता उपस्थित थे।