हुसैनगंज: दूसरे की हत्या की साजिश रच रहा था सगीर पर विनोद हो गया बम से घायल

0
bomb se ghayal yuvak
  • प्राथमिक उपचार के बाद सिवान सदर अस्पताल से पटना के लिए रेफर
  • बम विस्फोट से एक 4 वर्षीय बच्चा भी हुआ घायल

परवेज अख्तर/एडिटर-इन-चीफ:

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

जहां पूरा सिवान बरसात के पानी से त्राहिमाम है तो दूसरी तरफ इस बरसात के मौसम में भी अपराधी जो अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। रविवार की दोपहर हुसैनगंज थाना क्षेत्र के जुड़कन गांव से एक सनसनीखेज अपराधिक मामला उभर कर सामने आया है कि जहां दूसरे की हत्या की साजिश रच रहे एक व्यक्ति बम विस्फोट में बुरी तरह से घायल हो गया है। वहीं इस दौरान एक चार वर्षीय बच्चा भी बम के छींटे के चपेट में आ जाने से घायल हो गया है। परिजनों ने आनन-फानन में दोनों को इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत गंभीर होने के कारण ड्यूटी पर तैनात चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया है।

घायलों में जुड़कन गांव के विनोद मांझी (40 वर्ष) व इनका चार वर्षीय पुत्र सत्यम कुमार शामिल है। परिजनों ने बताया कि जुड़कन गांव का सगीर साई नामक व्यक्ति ने उसे एक झोला में रखा बम दे दिया और कहा कि एक व्यक्ति आएगा तो उसे आप दे देना तब तक इसी बीच झोले में रखा बम विस्फोट कर गया। जिससे विनोद मांझी तथा इनका पुत्र सत्यम कुमार(4 वर्ष) गंभीर रूप से घायल हो गए। परिजनों ने बताया कि विनोद मांझी गांव में अपने पुत्र सत्यम को लेकर बिस्किट खरीदने वास्ते निकले था कि इसी बीच सगीर साई नामक व्यक्ति से इनकी मुलाकात हो गई। जहां सगीर साई नामक व्यक्ति ने झोले में रखा बम विनोद मांझी को दे दिया था। जिससे यह घटना घटित हुई।

bomb blast in siwan

बहरहाल चाहे जो हो यह पुलिसिया जाँच का विषय है की सगीर साई नामक व्यक्ति ने विनोद मांझी को झोला में रखा बम कौन से आपराधिक घटना को अंजाम देने के लिए दिया था। उधर इस घटना को लेकर एसपी अभिनव कुमार ने घटना के हरेक बिंदुओं पर पारदर्शिता पूर्वक गहराई से जांच करने का निर्देश स्थानीय पुलिस को दी है। उधर स्थानीय पुलिस ने एसपी के दिशा निर्देश के आलोक में घटना के हरेक बिंदुओं पर अनुसंधान जारी रखा है। खबर प्रेषण तक उक्त घटित घटना को लेकर कोई विधिवत जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी थी।