सिवान : जदयू विधायक हेमनारायण साह को परिजनों व ग्रामीणों ने सदर अस्पताल में किया घेराव, मची-अफरा- तफरी

0
jdu vidhayak heme narayan
  • परिजनों ने विधायक व सरकार पर लगाए कई गंभीर आरोप
  • कुछ देर के लिए पोस्मार्टम की प्रक्रिया रही बाधित
  • मृत मुखिया सुनील सिंह के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे थे जदयू विधायक

परवेज़ अख्तर/सिवान:
रविवार की देर संध्या जैसे ही मृत मुखिया सुनील सिंह का शव पोस्मार्टम के लिए सिवान सदर अस्पताल पहुंचा। तो देखते ही देखते लोगों के हुजूम से पूरा सदर अस्पताल में उमड़ पड़ा। अभी ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली पोस्मार्टम की प्रक्रिया शुरू कर ही रहे थे कि इसी बीच महाराजगंज के जदयू विधायक हेम नारायण साह सदर अस्पताल आ धमके। उनके धमकते ही मौजूद परिजनों ने उन्हें घेर लिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

करीब आधा घण्टा तक परिजनों ने उन्हें बंधक बनाए रखा। जिससे अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। वही पोस्मार्टम की प्रक्रिया कुछ देर के लिए बाधित रही। बाद में विधायक के चिरौरी करने के बाद आक्रोशित परिजन मान गए। बता दें की रविवार की दोपहर महाराजगंज प्रखंड के बलहु पंचायत के मुखिया सुनील सिंह को अपराधियों ने अत्याधुनिक हथियार से गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी थी।

jdu vidhayak

जहां आक्रोशित ग्रामीणों ने घंटों मुख्य पथ को अवरुद्ध कर स्थानीय पुलिस प्रशासन व सरकार विरोधी जमकर नारेबाजी की। बाद में सूचना पाकर पहुंचे  महाराजगंज एसडीपीओ ने आक्रोशितों को समझा बुझा कर घण्टों बाद शव को अपने कब्जे में लेकर रविवार की देर संध्या पोस्टमार्टम हेतु सिवान सदर अस्पताल भेजा। उसी घटना में  महाराजगंज के जदयू विधायक हेम नारायण साह मृत मुखिया के परिजनों को सांत्वना देने रविवार की देर संध्या सदर अस्पताल सिवान पहुंचे हुए थे। उनके पहुँचते ही परिजन व ग्रामीण आक्रोशित हो गए। बाद में  परिजनों व ग्रामीणों ने सदर अस्पताल के परिसर में जदयू विधायक हेम नारायण साह को घेर लिया तथा स्थानीय जदयू विधायक व सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाना शुरू कर दिया।

vidhayak heme narayan

जिससे अस्पताल परिसर में अफरा-तफरी मच गई। ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली ने कहा कि मृतक के शरीर में अपराधियों द्वारा कई जगह गोली मारी गई है। जिससे उसकी मौत हो गई है। शरीर मे फंसा गोली किस हथियार का है यह स्पष्ठ नही हो रहा है। शरीर से गोली निकालने के बाद पुलिस को सौंप दी जाएगी। बहरहाल चाहे जो हो सदर अस्पताल परिसर में परिजनों व ग्रामीणों का आक्रोश विधायक के प्रति खूब देखा गया। उधर विधायक हेम नारायण साह ने कहा की परिजनों व ग्रामीणों का आक्रोशित होना लाजिम है कारण यह है की अपराधियों द्वारा गोली मार कर मुखिया की हत्या की गई है।