सिसवन: छितौली में बंधक बना सैनिक कैंटीन में लाखों की डकैती

0
  • डकैती की घटना के बाद स्थानीय लोगों ने बुधवार की सुबह सिसवन-सीवान मुख्य मार्ग को जाम कर दिया
  • हथियारबंद बेखौफ अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम
  • अर्द्ध सैनिक वेलफेयर कैंटीन 20 अक्टूबर को खुला है
  • 06 घंटे तक नाराज ग्रामीणों ने किया सड़क जाम
  • 09 लाख के सामान ट्रक में लोड कर निकल गये

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के सिसवन चैनपुर ओपी क्षेत्र के सीवान-सिसवन मुख्य मार्ग पर छितौली गांव के दक्षिण स्थित एक मकान में खुले सैनिक कैंटीन में बंधक बनाकर डकैती की घटना को अंजाम दिया गया है। भूतपूर्व सैनिक, अर्द्ध सैनिक वेलफेयर कैंटीन 20 अक्टूबर को खुला था। संचालक संजय गिरि चैनपुर ओपी क्षेत्र के बावनडीह मठिया गांव के हैं। उन्होंने बताया कि नारायण मांझी के घर में कैंटीन खुला है। नारायण की तबीयत खराब होने की वजह से वे अपने चैनपुर स्थित घर चले गए थे। वह व उनका भाई रंजय गिरि दोनों दुकान में सोए थे। तभी रात में 12 से 15 अज्ञात अपराधी गेट का ताला काट अंदर आ गए। दोनों भाइयों को हथियार के बल पर बंधक बना लिया व दुकान में रखे लगभग 9 लाख के सामान को ट्रक में लोड कर निकल गये। डकैत नारायण के घर से भी चावल, गेहूं, गेट ग्रिल सहित अन्य सामान अपने साथ लेकर चले गए। सभी डकैत हथियार से लैस थे। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने बुधवार की सुबह सिसवन-सीवान मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। जाम लगभग 6 घंटे तक रहा। घटनास्थल पर सीओ सतीश कुमार, बीडीओ सूरज कुमार, सिसवन थानाध्यक्ष कुमार वैभव, परमेश्वर राम, चैनपुर ओपी प्रभारी राकेश कुमार, एमएच नगर प्रभारी अभिषेक कुमार पहुंच लोगों को समझाने का प्रयास किए। लोगों की मुख्य मांग थी कि डॉग स्क्वायड को बुलाकर छापेमारी हो और डकैतों की गिरफ्तारी होनी चाहिए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

छतौली में दो माह पहले भी हो चुकी है चोरी

पिछले अगस्त माह में चोरों ने दो घरों में चोरी की घटना को अंजाम दिया था। लेकिन अभी तक चोरी की घटना में शामिल अपराधियों को पकड़ने में पुलिस विफल रही है। चोरी की घटना जयश्री प्रसाद व ओम प्रकाश के घर में हुई थी। जिसमें लाखों रुपए के गहने की चोरी हुई थी। जाम करनेवाले लोगों का कहना था कि पुलिस की शिथिलता के कारण क्षेत्र में चोरी व लूट की घटना हो रही है। पुलिस अपराधियों पर अंकुश लगाने में विफल है।

पुलिस ने बुलाया डॉग स्क्वायड

डकैती की घटना के बाद पुलिस ने डॉग स्क्वायड को बुलाया। छपरा से आया डॉग स्क्वायड मकान के चारों तरफ घुमकर अपनी जगह पर आ पहुंचा। ओपी प्रभारी राकेश कुमार ने कहा कि अपराधियों द्वारा कोई सुराग नहीं छोड़ने के कारण कुत्ता वापस लौट गया। हालांकि उन्होंने इस बात से इनकार किया कि परिजनों को बंधक बनाकर डकैती की घटना को अंजाम दिया गया है। उन्होंने कहा कि घटना की जांच में पुलिस जुटी है। शीघ्र गिरफ्तारी की जाएगी।