सिवान के भगवानपुर थानाध्यक्ष पंकज कुमार सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी पर हमला, चालक गम्भीर स्थिति में रेफर

0
  • तीन हमलावर को पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • महाराजगंज थाना क्षेत्र के पटेढा गांव निवासी गोलू शाही को गिरफ्तार करने गई थी पुलिस टीम
  • पुलिस जीप के ड्राइवर का सिर फूटा, हालत चिंताजनक
  • ड्राइवर सीवान सदर अस्पताल रेफर, चल रहा है इलाज
  • 06 पुलिसकर्मी घायल, थानाध्यक्ष भी शामिल

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

एससी-एसटी एक्ट मामले के एक आरोपित की गिरफ्तारी के लिए सोमवार की आधी रात उसके घर महाराजगंज थाना क्षेत्र के पटेढ़ा गांव छापेमारी करने गई पुलिस पर घरवालों ने ईंट-पत्थर से जानलेवा हमला कर दिया। पुलिस की टीम थानाध्यक्ष पंकज कुमार के नेतृत्व में महाराजगंज के एसआई ज्ञानप्रकाश के साथ एससी-एसटी मामले के फरार आरोपित महाराजगंज थाना क्षेत्र के पटेढ़ा गांव के गोलू शाही को गिरफ्तार करने गई थी। जब पुलिस की टीम आरोपित के घर पहुंची तभी आरोपित के परिजनों ने छत से ईंट-पत्थर चलाना शुरू कर दिया। इस घटना में भगवानपुर हाट के थानाध्यक्ष पंकज कुमार, पीएसआई चांदनी कुमारी, एएसआई आफताब आलम, ड्राइवर अरविन्द कुमार, होमगार्ड के सिपाही रमाशंकर यादव व मजीद शाह घायल हो गए। इस घटना में पुलिस गाड़ी के ड्राइवर अरविन्द कुमार का सिर फट गया। अन्य पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आईं। इस दौरान होमगार्ड के जवान रमाशंकर यादव का राइफल का बट टूट गया। उन्होंने कहा कि घटना के बाद जख्मी पुलिस भागने के बजाय आरोपित के घर का घेराव कर लिया। सूचना मिलने पर महाराजगंज व भगवानपुर से पर्याप्त संख्या में पुलिस बलों के पहुंचने पर एक बार फिर से गिरफ्तारी का प्रयास किया गया। इसमें फरार आरोपित गोलू शाही, पुलिस पर हमला करने वाले उसके पिता सुलाखन शाही तथा पलक शाही को गिरफ्तार कर लिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि जख्मी पुलिसकर्मियों को ग्रामीणों का बहुत ही सहयोग मिला। गिरफ्तार तीनों को आरोपितों को सोमवार को जेल भेज दिया।

फरार आरोपित गोलू शाही के घर पर होने की थी सूचना

घटना के दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की हरसंभव मदद की। सभी घायलों का उपचार भगवानपुर सीएचसी में किया गया। पुलिस गाड़ी के ड्राइवर अरविन्द कुमार के सिर में गंभीर चोट आने के कारण उसे प्राथमिक उपचार के बाद सीवान सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि वर्ष 2020 के अगस्त महीने में भगवानपुर थाना क्षेत्र के कोइरगांवा के महादलित टोला के लोगों के साथ मारपीट हुई थी। इस मामले में प्रेम प्रकाश राम के आवेदन पर थाने में एससी-एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज किया गया था। इसमें पटेढ़ा गांव के गोलू शाही सहित सोलह नामजद व पन्द्रह अज्ञात लोगों को आरोपित किया गया था। इस मामले में फरार चल रहे आरोपित गोलू शाही के घर पर होने की सूचना मिलने पर सोमवार की आधी रात पुलिस की टीम उसे गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी करने गई थी, तभी यह घटना घटी।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here