सिवान: हार्ट स्पेशलिस्ट बनकर गरीबों की सेवा करना चाहता है दिब्यांक

0
Siwan Online banner
  • छपरा के प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश का पुत्र है
  • एमबीबीएस पढ़ाई करने के बाद एमडी करना चाहता है

परवेज अख्तर/सिवान: राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा नीट 2021 का परीक्षा परिणाम में जिले के कई छात्रों ने सफलता पायी है। जिले के सदर प्रखंड के अमलोरी के छात्र ने बेहतर अंक लाकर जिले का नाम रौशन किया है। अमलोरी के ब्रजेश सिंह के बेटे दिब्यांक शेखर ने 983 अंक हासिल किया है। उसके पिता ब्रजेश सिंह छपरा में प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश हैं। उनकी मां रंजू देवी गृहणी हैं। स्व. चंदेश्वर सिंह का पौत्र दिब्यांक शेखर शुरू से ही पढ़ाई में मेधावी रहा है। दिब्यांक ने शहर के महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर विजयहाता से मैट्रिक की पढ़ाई की है। वहीं उसने बीपीएच पचौरा से इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर अच्छे नम्बर से परीक्षा पास की।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

इंटर करने के बाद वह नीट की तैयारी में जुट गया। उसने पहले तो पटना का गोल ज्वाइंन किया। कोरोना काल में घर से ही उसने गोल का ऑनलाइन क्लास ज्वाइन कर लिया। इसके बाद उसने ऑनलाइन क्लास फिजिक्स वाला से सम्पर्क किया। इसके बाद प्रो. अलख पांडेय के मार्गदर्शन में भी ऑनलाइन क्लास किया। उसने दूसरे प्रयास में यह सफलता पायी है। दिब्यांक ने बताया कि एमबीबीएस की पढ़ाई करने के बाद वह एमडी करना चाहता है। कहा कि उसकी तमन्ना हार्ट स्पेशलिस्ट बनकर गरीबों की सेवा करना है।