सिवान में धारदार हथियार से वृद्ध की गला काट कर हत्या

0
kishan ki htya

परवेज अख्तर/सिवान : सिवान के महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलऊं पंचायत के लेरूआं गांव में बुधवार की संध्या अपराधियों ने एक वृद्ध की गला काट कर हत्या कर दी और उसके शव को गांव के चंवर में फेंक दिया। खून से लथपथ वृद्ध का शव देखकर लोगों में सनसनी फैल गई। आनन फानन में लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना के करीब दो घंटे बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक की शिनाख्त लेरूआं गांव निवासी रघुनाथ सिंह (65) के रूप में हुई है। मामले में पुलिस ने घटना स्थल से धारदार हथियार को बरामद कर लिया है। हत्या की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था। जानकारी के अनुसार रघुनाथ सिंह पटवन के काम से अपने खेत में बुधवार की शाम गए थे। इसी बीच उनकी हत्या कर दी गई। गांव के अन्य लोग जब अपने खेत में काम करने गए थे तो रघुनाथ सिंह का शव खून से लथपथ देखा। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अपराधियों ने रघुनाथ सिंह के गले पर धारदार हथियार से वार उन्हें मौत के घाट उतार दिया था। शव देखते ही गांव में सनसनी फैल गई तथा पूरे गांव में हत्या की खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। घटनास्थल पर शव को देखने के लिए काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई। वहीं घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे महाराजगंज एएसआई मिथिलेश कुमार सिंह ने मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई थी। खबर प्रेषण तक मामले में एफआइआर दर्ज नहीं हुई थी।

किसान की हत्या के बाद गांव में पसरा सन्नाटा

महाराजगंज थाना क्षेत्र के लेरूआ गांव स्थित चंवर में गांव के ही किसान रघुनाथ सिंह की हत्या कर शव को फेंक दिए जाने की घटना के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। हत्या कैसे हुई यह सभी सोचकर सभी हतप्रभ हैं। घटनास्थल से पुलिस ने तलवार बरामद की है। ग्रामीणों के अनुसार रघुनाथ सिंह बहुत मिलनसार व्यक्ति थे। बताया जाता है कि रघुनाथ सिंह काफी मिलनसार व्यक्ति थे। वे सभी से मिलजुलकर रहते थे। उनके चार पुत्र हरेंद्र सिंह, जितेंद्र सिंह, उपेंद्र सिंह गांव में रहते हैं। वहीं सत्येंद्र सिंह विदेश रहता है। रघुनाथ सिंह को एक पुत्री है।सभी की शादी हो चुकी है।

पति की हत्या की खबर मिलते ही पत्नी हुई बेहोश

किसान रघुनाथ सिंह की हत्या की खबर मिलते ही पत्नी पानपती देवी (60) बेहोश होकर गिर जा रही थी, जिसे आसपास की महिलाएं संभाल रहीं थीं। वहीं पुत्रों समेत अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। आसपास के लोग परिजन को सांत्वना दे रहे थे। इस घटना से क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा है तथा गांव में शोक व्याप्त है।

मिलनसार थे रघुनाथ सिंह

गांव के लोगों ने बताया कि रघुनाथ सिंह का किसी से कोई विवाद नहीं था और वे मिलनसार स्वभाव के थे। उनका गांव के सभी लोगों के साथ काफी मधूर संबंध था। घटना के बाद गांव के लोग हतप्रभ हैं।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here