सिवान: महिला की मौत से भड़के स्वजन ने क्लीनिक पर किया हंगामा

0

परवेज अख्तर/सिवान: गुठनी मोड़ स्थित एक क्लीनिक में शुक्रवार को इलाज के दौरान एक महिला मरीज की मौत हो गई। इससे आक्रोशित स्वजनों ने हंगामा किया। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आक्रोशित लोगों को समझा कर शांत कराया। मृतका की पहचान पूर्वी चंपारण के हरसिद्धि थाना क्षेत्र के भदा गांव निवासी अर्जुन साह की पत्नी रीता देवी के रूप में हुई है। वह अपने मायके मैरवा थाना क्षेत्र के सिसवा कुछ महीना पहले ससुराल से आई थी। मैरवा थाना क्षेत्र के सिसवा निवासी अशर्फी गुप्ता ने बताया कि उनकी बहन रीता देवी नसबंदी का आपरेशन कराने 10 दिन पहले गुठनी मोड़ स्थित एक निजी क्लीनिक में स्वजनों के साथ पहुंची तो चिकित्सक ने खून की कमी बताते हुए आपरेशन नहीं किया। शरीर में खून बढ़ाने के लिए कुछ दिनों तक दवाएं चलीं।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इसके बाद एक यूनिट रक्त की व्यवस्था कर चढ़ाया गया। गुरुवार को आपरेशन करने के लिए चिकित्सक तैयार हो गए। एक यूनिट रक्त की और व्यवस्था की गई। दोपहर में आपरेशन के लिए महिला को चिकित्सक आपरेशन थिएटर में ले गए। वह चार घंटा तक आपरेशन कक्ष में ही रही। संध्या समय उसे आपरेशन थिएटर से बाहर निकाला गया। देखने से ऐसा लग रहा था कि वह बेहोशी की हालत में थी। चिकित्सक ने बताया कि कुछ देर के बाद उसे होश आ जाएगा। उसे बेहोशी की सुई दी गई है। इसके बाद चिकित्सक ने स्थिति गंभीर बताते हुए उसे गोरखपुर ले जाने के लिए कहा। एंबुलेंस से उसे एक कंपाउंडर के साथ स्वजन गोरखपुर लेकर गए।

वहां एक नर्सिंग होम में चिकित्सक ने देखा तो महिला को मृत बताया। यह सुनकर जांच रिपोर्ट और डाक्टर की पर्ची लेकर कंपाउंडर फरार हो गया। स्वजन मृत रीता के शव के साथ मैरवा के गुठनी मोड़ स्थित क्लीनिक पर पहुंचे। वे रीता की मौत के लिए चिकित्सक को जिम्मेदार बता रहे थे। उनका कहना था कि महिला की मौत आपरेशन के दौरान ही हो गई थी। चिकित्सक ने जानबूझकर यह बात छुपाने के लिए उसे रेफर कर दिया था। हंगामे की सूचना मिलते ही मैरवा पुलिस वहां पहुंची और लोगों को समझा कर शांत कराया तथा शव का पंचनाम कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। बता दें कि दो वर्ष पहले जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमारी कर इस क्लीनिक को सील किया था। उस समय यह क्लीनिक भारतीय स्टेट बैंक के निकट शिवपुर मठिया में स्थित था। बाद में इसे स्थानांतरित कर गुठनी मोड़ चिकित्सक लेकर चले गए।