सिवान: अनलॉक-5 के प्रभावी होते ही शहर की लौटी रौनक, प्रमुख बाजारों में उमड़े खरीदार

0
  • साप्ताहिक बंदी छोड़ अन्य दिन खुली रहेंगी सभी दुकानें
  • स्कूल व कोचिंग संस्थान के खुलने से गुलजार हुई सड़कें
  • पाबंदी हटने के बाद वाहन मालिकों ने भी ली राहत की सांस

परवेज अख्तर/सिवान: कोरोना संक्रमण में कमी आने के बाद जिले में शनिवार से अनलॉक-5 प्रभावी हो गया है। जिससे एक बार फिर जिले की रौनक लौट आई है। जिला प्रशासन ने साप्ताहिक बंदी को छोड़ अन्य दिन सारी दुकानें खोलने की अनुमति दी है। इस आदेश के बाद जिला मुख्यालय से प्रखंडों में सारी दुकानें खुल गईं। इधर सारी दुकानें खुलने के बाद ग्राहकों का हुजूम उमड़ पड़ा। शहर के जेपी चौक, थाना रोड, गल्ला मंडी, शहीद सराय, तेलहट्टा सहित शहर के प्रमुख बाजारों में ग्राहकों की भीड़ देख दुकानदार खासे उत्साहित नजर आये। पर्व, त्योहार, शादी-विवाह के मौसम में लॉकडाउन व अनलॉक की पाबंदियों के चलते उनकी दुकानदारी खासी प्रभावित हुई थी। परंतु अनलॉक-5 का आदेश मिलते ही दुकानदारों ने राहत की सांस ली। इधर काफी दिन बाद सारी दुकानें खुलने के बाद ग्राहक भी खासे उत्साहित नजर आ रहे थे। मोबाइल, इलेक्ट्रानिक आदि दुकानों पर भी ग्राहक अच्छी संख्या में नजर आए। इधर अनलॉक-5 प्रभावी होते ही वाहनों की भी अच्छी तादाद दिखी। सार्वजनिक वाहनों में यात्रियों की भीड़ दिखी। कई माह बाद वाहनों में सवारियों की भीड़ देख वाहन मालिकों ने राहत की सांस ली। महीने से बंद पड़े स्कूल व कोचिंग संस्थान के खुलने के साथ ही शहर की रौनक पूरी तरह से लौट गई। शहर के विभिन्न मार्ग व प्रमुख बाजार वाहनों व लोगों से भीड़ से पटी नजर आयी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

कपड़े, आभूषण सहित अन्य दुकानों पर दिखी खासी भीड़

अनलॉक-5 में सप्ताहिक बंदी को छोड़ अन्य दिन सारी दुकानें खुलने की सूचना मिलते ही ग्राहकों का हुजूम शहर में उमड़ पड़ा। रोज की अपेक्षा शनिवार को शहर में खासी भीड़ विभिन्न बाजारों में देखने को मिली। कपड़े, आभूषण सहित अन्य दुकानों पर ग्राहकों को अच्छी खासी तादाद दिखी। हर कोई एक-दूसरे से काफी दिन बाद मिलकर चहक भी रहे थे। देर शाम तक दुकानों में ग्राहकों की भीड़ देखी गई। वहीं दुकानदार कई माह बाद ग्राहकों की अच्छी तादाद देख जल्द से जल्द सामान देने में व्यस्त दिखे।

धार्मिक स्थल अभी बंद रहेंगे

मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा समेत अन्य धार्मिक स्थल फिलहाल आमजनों के लिए बंद रहेंगे। वहीं सार्वजनिक स्थलों पर सरकारी और निजी कार्यक्रमों पर भी रोक जारी रहेगी। महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन को कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए गए हैं। सावन मास में मंदिर आदि को बंद रखने के निर्णय से श्रद्धालु मायूस दिखे। श्रद्धालु अनलॉक-5 से काफी उम्मीद लगाए बैठे थे। श्रद्धालुओं को विश्वास था कि अनलॉक-5 में मंदिर, मस्जिद आदि खोले दिये जायेंगे। इधर मंदिर खुल जाने के बाद सावन में बचे शेष दिन वह जलाभिषेक व दर्शन कर सकेंगे, परंतु ऐसा न हो सका।