सिवान: पारंपरिक रूप से धूमधाम के साथ मना क्रिसमस का त्योहार

0
  • सांता क्लॉज ने बच्चों के बीच चॉकलेट व उपहार, सांता के साथ सेल्फी लेने की मची रही होड़
  • क्रिसमस पर सांता क्लॉज व क्रिसमस ट्री बने रहे आकर्षण का केन्द्र

परवेज अख्तर/सिवान: गिरिजाघरों में क्रिसमस का त्योहार शनिवार को पारंपरिक रूप से धूमधाम के साथ मनाया गया। दिन भर गिरिजाघरों में चहल-पहल बनी रही। जिंगल बेल-जिंगल बेल व यीशु आया-यीशु आया की धूम मची रही। इस दौरान सांता क्लॉज व क्रिसमस ट्री आकर्षण का केन्द्र रहे। गिरिजाघरों में मोमबत्ती जलाकर महिला-पुरुष समेत बच्चों ने प्रार्थनाएं की। वहीं सांता क्लॉज ने बच्चों के बीच चॉकलेट व उपहार बांटे। गिरिजाघरों में सांता क्लॉज के साथ सेल्फी लेने की होड़ मची रही। इधर, क्रिसमस के अवसर पर शहर के महादेवा स्थित फुल गोस्पल चर्च, हरिदया मोड़ स्थित इमानुएल मिशन चर्च व सदर प्रखंड के छोटपुर स्थित कैथोलिक गिरिजाघर को रंग-बिरंगे झालरों व फूलों से सजाया गया था। गिरिजाघरों में प्रभु यीशु के जल्मोत्सव पर विशेष पूजा-प्रार्थनाएं आयोजित की गईं। केक काटकर प्रभु यीशु को याद किया गया। गिरिजाघरों में प्रभु यीशु के जन्म को दर्शाती माता मरियम के साथ की झांकी आकर्षण का केन्द्र बनी हुईं थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

शाम होते ही रंग-बिरंगी रौशनी में गिरिजाघर झिलमिला उठे। इमानुएल मिशन चर्च में अनुयायियों को संबोधित करते हुए डॉ. ईए अब्राहम ने समाज के लोगों को सेवा व सदभाव का संकल्प दिलाया। साथ ही समस्त मानव जाति के लिए ईश्वर पुत्र प्रभु यीशु मसीह की शिक्षाओं से जीवन को सफल बनाने की बात कही। महादेवा स्थित फुल गोस्पल चर्च के फादर संतोष कुमार ने बताया कि क्रिसमस के मौके पर स्तुति आराधना के साथ प्रभु यीशु का जन्मदिवस मनाया गया है। प्रभु यीशु के बयान पर आधारित बाइबिल का संदेश प्रार्थना में लोगों को बताया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद सामूहिक रूप से भोज का आयोजन किया गया, जिसमें सभी वर्ग के लोग शामिल हुए।