सिवान: तीन लापता युवकों का चौथे दिन भी नहीं मिला सुराग

0
  • लापता विशाल सिंह की काली स्कार्पियों गाड़ी मीरगंज थाना क्षेत्र के सब्या के निकट लावारिस हालत में बरामद की गई है
  • जांच के किसी ठोस नतीजे पर पहुंचने के बाद ही सच्चाई सामने आ सकेगी
  • तीनों युवकों का किसी गैंग द्वारा अपहरण कर लिए जाने की बात की चर्चा
  • 07 नवंबर को घर से एक साथ निकले थे तीनों मित्र
  • 08 नवंबर को लावारिस हालत में मिली थी स्कार्पियो

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के तीन युवक विशाल सिंह, परमेंद्र सिंह व अंशु के अचानक लापता हुए चार दिन गुजर गए। बावजूद पुलिस को उनका कोई सुराग नहीं मिल सका है। इधर तीनों की राह देखते-देखते परिजनों की आंखे पथरा-सा गयी हैं। इधर पुलिस इस घटना को लेकर एफआईआर दर्ज कर युवकों की तलाश में जी-जान से जुट गयी है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। काफी खोजबीन के बाद भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंचने के बाद अब इसे लेकर कई तरह की चर्चाएं भी होने लगी हैं। कई लोगों द्वारा दबे जुबान तीनों युवकों का किसी गैंग द्वारा अपहरण कर लिए जाने की बात, वहीं कई लोगों द्वारा युवकों के साथ अनहोनी की आशंका भी जतायी जा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

बहरहाल पुलिस जांच के किसी ठोस नतीजे पर पहुंचने के बाद ही सच्चाई सामने आ सकेगी। गौरतलब है कि 07 नवंबर को एक साथ निकले तीनों युवक देर शाम तक अपने घर नहीं पहुंच सके। अगले दिन लापता विशाल सिंह की काली स्कार्पियों गाड़ी गोपालगंज जिले के मीरगंज थाना क्षेत्र के सब्या के निकट लावारिस हालत में बरामद की गई थी। जिसकी सूचना पुलिस ने परिजनों को दी गयी।

छठ पर्व पर सामान खरीदने की बात कह घर से निकला था अंशु

परिजनों की मानें तो छठ पर्व पर सामान खरीदने की बात कहकर 07 नवंबर की दोपहर को घर से निकला था। उसने विशाल से मिलने जाने की बात भी परिजन को बतायी थी। देर रात तक परिजन अंशु के सामान लेकर घर वापसी का इंतजार करते रहे। इधर उसके मोबाइल फोन पर भी लगातार संपर्क साधने की कोशिश की जाती रही। लेकिन दूसरी तरफ से कॉल का कोई जबाव नहीं मिल सका। आठ नवंबर को अंशु के परिजन विशाल के घर जाकर बेटे के नहीं आने की बात पूछी तो उन्हें पता चला कि विशाल भी घर वापस नहीं लौटा है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here