सिवान: वन विभाग के आवेदन के बावजूद अब तक दर्ज नहीं की एफआईआर

0
fir
  • जामुन के पेड़ में जान-बूझकर लगाई जा रही है आग
  • महादेवा ओपी व डीईओ कार्यालय के बीच पेड़ स्थित

परवेज अख्तर/सिवान: शहर के महादेवा रोड में महादेवा ओपी व डीईओ कार्यालय के बीच में रोड से पूरब किनारे लगे जामुन के पेड़ को जानबूझ कर आग लगाया जा रहा है, ताकि पेड़ गिरकर वहां से हट जाए। बताया जा रहा कि इस संदर्भ में वन विभाग द्वारा महादेवा ओपी में एफआईआर के लिए आवेदन देने के बावजूद अबतक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। बताया जा रहा कि जामुन के पेड़ की गोलाई 330 सीएम है। वनों के क्षेत्र पदाधिकारी दिलीप कुमार ने बताया कि महादेवा के वसीम अख्तर का घर पेड़ के ठीक पूरब में है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

चाह माह पहले पेड़ हटाने के लिए वन विभाग में आवेदन दिए थे। हरा सरकारी पेड़ काटने पर प्रतिबंध है, इसलिए जामुन के पेड़ को नहीं हटवाया गया। इस बीच पेड़ की जड़ कुछ खोखला हो गया है। आवेदक द्वारा दो-तीन दिनों में खोखले भाग में जान-बूझकर आग लगाई जा रही है, ताकि पेड़ गिरकर वहां से हट जाए। वनों के क्षेत्र पदाधिकारी ने बताया कि आवेदक अपने मकान के आगे रोड की जमीन को अवैध कब्जा कर बांस व कर्कट से घेरकर छावनी बना लिए हैं। अब इनका उद्देश्य पेड़ हटाकर सरकारी सड़क की जमीन पर अवैध कब्जा करने का है। इसे लेकर पचरुखी प्रखंड के वनरक्षी सोनू कुमार जायसवाल ने महादेवा ओपी में एफआईआर के लिए आवेदन दिया है, लेकिन अबतक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।